Search Engine कैसे काम करता हैं? हर किसी को जानना चाहिए

इन्टरनेट जो कि सूचनाओं का महासागर है, इस सूचनाओं के विशाल भंडार में से आपके द्वारा खोजी गयी जानकारी को पलक झपकते ही Search Engine आपके सामने ला देता है. पर क्या आप जानते हैं सर्च इंजन क्या है? सर्च इंजन कैसे काम करता है (Search Engine Kaise Kaam Karta Hai)? सर्च इंजन कितने प्रकार के होते हैं? इंडिया का सर्च इंजन कौन सा है? और दुनिया के सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन कौन से हैं?

अगर आप इस प्रकार के सभी प्रश्नों का उत्तर जानना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़ें. इसमें आपको सर्च इंजन से सम्बंधित तमाम प्रश्नों के उत्तर जानने को मिलेंगे.

सर्च इंजन के बारे में एक इन्टरनेट यूजर और एक Blogger दोनों को जानना बहुत जरुरी है. एक यूजर के नजरिये से बात करें तो, आपके मन में यह सवाल कभी न कभी आता होगा कि हम सर्च इंजन (गूगल, याहू बिंग) में कुछ भी Query सर्च करते हैं तो वह सेकंड से पहले हमारे सामने सटीक जानकारी कैसे उपलब्ध करता है.

और अगर एक ब्लॉगर के नजरिये से बात करें तो आप भी जरुर सोचते होंगे कि जिस सर्च इंजन में अपनी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए हम इतना काम करते हैं आखिर वह काम कैसे करता है. एक ब्लॉगर के लिए यह जानना अति आवश्यक हो जाता है. चलिए शुरू करते हैं इस लेख को और शुरुवात से जानते हैं Search Engine के बारे में.

सर्च इंजन क्या है (What is Search Engine in Hindi)

सर्च इंजन एक विशेष प्रकार का कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है जो किसी भी यूजर द्वारा सर्च की गयी Query को वर्ल्ड वाइड वेब (www) से ढूंड कर यूजर के सामने Search Engine Result Page (SERP) पर दिखाता है.

इन्टरनेट पर कोई भी यूजर जो Query करता है उसे Keyword कहते हैं. सर्च इंजन उस कीवर्ड से Match सारे वेबसाइट को इन्टरनेट के भंडार से खोज कर यूजर के सामने SERP पर दिखाता है.

सभी सर्च इंजन अपने अल्गोरिथम के आधार पर सबसे बेस्ट रिजल्ट यूजर को दिखाता है. जिससे यूजर को उसके Query का संतोषजनक जबाब मिल सके, और उसका सर्च इंजन पर भरोसा बना रहता है. जैसे – गूगल जो कि एक बहुत Popular Search Engine है.

सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाने वाले सर्च इंजन (World Most Popular Search Engine)

वैसे दुनिया में बहुत अधिक सर्च इंजन हैं पर मैं आपको उन सर्च इंजन के बारे बताऊंगा जो बहुत अधिक प्रयोग किये जाते हैं.

  • Google
  • Bing ( Microsoft Product )
  • Yahoo
  • DuckDuckGo
  • Baidu
  • Yandex
  • Ask.com
  • SpiderWeb
  • Dogpile
  • Wolframalpha

भारतीय सर्च इंजन (Indian Search Engine)

भारत में बने कुछ प्रमुख सर्च इंजन निम्नलिखित हैं –

  • Epic Search
  • 123Khoj
  • Guruji
  • Justdial
  • Rediff

सर्च इंजन कैसे काम करता है (How Does Search Engine Work in Hindi)

Search Engine Kaise Kaam Karta hai

किसी भी सर्च इंजन के अपने अल्गोरिथम होते हैं, वह अपने अल्गोरिथम के आधार पर ही यूजर को सटीक जानकारी दे पाते हैं. सर्च इंजन की कार्य प्रणाली बहुत जटिल होती है, इसे समझना आम यूजर के लिए इतना आसान नहीं होता है पर सभी सर्च इंजन के काम करने के कुछ स्टेप होते हैं जो हम आपको बताने जा रहे हैं.

सर्च इंजन के काम करने के मुख्य रूप से 4 स्टेप होते हैं.

  • Discovery
  • Crawling
  • Indexing
  • Ranking

1 – Discovery (खोज करना)

जब वेबसाइट ओनर अपनी वेबसाइट में कोई नया पेज पब्लिश करते हैं तो सर्च इंजन के रोबोट्स सबसे पहले उस पेज को खोजते हैं. सर्च इंजन को पेज खोजने में आसानी हो इसलिए वेबसाइट ओनर Sitemap का इस्तेमाल करते हैं.

2 – Crawling (क्रॉल करना)

दूसरा स्टेप होता है Crawling का. जिन वेबसाइट या वेबपेजों को सर्च इंजन क्रॉलर खोज लेते हैं इसके बाद उन्हें क्रॉल करते हैं. Crawl का मतलब रेंगना होता है.

जब सर्च इंजन के क्रॉलर (इन्हें Bots, Spider भी कहते हैं) किसी भी वेबसाइट या वेबपेज को क्रॉल करते हैं तो वह उस वेबपेज को समझने की कोशिस करते हैं कि इस वेबपेज में किस विषय के बारे में बात की गयी है. सर्च इंजन के क्रॉलर किसी वेबपेज को निम्न कुछ बातों के आधार पर समझते हैं.

  • वेबपेज में प्रयोग किये गए कीवर्ड.
  • वेबपेज का यूआरएल (URL), डिस्क्रिप्शन, टाइटल की मदद से.

3 – Indexing (इंडेक्स करना)

तीसरा स्टेप आता है Indexing का. Indexing का मतलब होता है लिस्ट करना. सर्च इंजन के क्रॉलर Crawling करने के बाद वेबसाइट की Indexing करते हैं. सभी वेबसाइट को समझने के बाद क्रॉलर वेबसाइट की लिस्ट बना लेते हैं. और उन्हें अपने Main Server में स्टोर कर देते हैं.

Main Server में सभी वेबसाइट एक केटेगरी वाइज लिस्ट रहती है. मतलब न्यूज़ की वेबसाइट न्यूज़ की केटेगरी में, हेल्थ की वेबसाइट हेल्थ की केटेगरी में, इसी प्रकार Sports, Tech सभी वेबसाइट केटेगरी वाइज लिस्ट रहती हैं.

एक ब्लॉगर की जानकारी के लिए बता दूँ हम सर्च इंजन को directly यह नहीं कह सकते हैं कि हमारे वेबसाइट को इस केटेगरी में रखो. जैसे माना आपकी वेबसाइट हेल्थ से सम्बंधित है तो आप directly यह नहीं कह सकते हैं कि हमारी वेबसाइट को हेल्थ वाली केटेगरी में रखो.

सर्च इंजन अपने अल्गोरिथम के अनुसार जैसे किसी वेबसाइट को समझता है उसे वही केटेगरी देता है. हाँ हम सर्च इंजन को निर्देश जरुर दे सकते हैं (Meta Tag के प्रयोग द्वारा) कि हमारी वेबसाइट किस टॉपिक से आधारित है.

इसलिए आपने अधिकतर सुना होगा कि Single Niche वेबसाइट जल्दी रैंक कर जाता है, क्योकि Single Niche वेबसाइट को आसानी से केटेगरी मिल जाती है. और Multi Niche वेबसाइट में सर्च इंजन के बोट्स समझ नहीं पाते हैं कि इस वेबसाइट को कौन से केटेगरी में रखे इसलिए Multi Niche वेबसाइट को रैंक करने में अधिक समय लगता है.

अधिक जानकारी के लिए आप हमारे ब्लॉग के Single Niche vs Multi Niche लेख को पढ़ सकते हैं.

4 – Ranking (रैंक करवाना)

सर्च इंजन की कार्य – प्रणाली में अंतिम स्टेप आता है Ranking का. इतना कुछ करने के बाद अब सर्च इंजन किसी भी यूजर की Query के अनुसार सबसे बेहतर रिजल्ट उसे SERP पर दिखाता है. जिस वेबसाइट में सबसे बेहतर जानकारी होती है सर्च इंजन उसे टॉप पर रखते हैं और इसी प्रकार यह क्रम चलते रहता है.

यह थी सर्च इंजन की कार्य प्रणाली, वैसे यह बहुत जटिल होती है लेकिन मैंने आपको सबसे आसान शब्दों में बताया है, जिससे आपको समझ में आ जाये कि Search Engine Kaise Kaam Karta Hai.

Search Engine के प्रकार (Types of Search Engine)

सर्च इंजन मुख्यतः पांच प्रकार के होते हैं.

1 – क्रॉल आधारित सर्च इंजन

इस प्रकार के सर्च इंजन मात्र क्रॉलर, Spider या बोट्स की मदद से चलते हैं. ये सभी एक Computer Program होते हैं. इनमे कोई Human नहीं होते हैं. जैसे – Ask.Com

2 – निर्देश आधार वाले सर्च इंजन

इस प्रकार के सर्च इंजन को कुछ व्यक्तियों की एक टीम निर्देशित करती हैं. इनमे केवल कुछ Selected वेबसाइट ही दिखाई जाती है. जैसे – dmoz.org

3 – Hybrid सर्च इंजन

वे सर्च इंजन जो क्रॉलर आधारित भी होते हैं और Human द्वारा भी निर्देशित किये जाते हैं, उन्हें Hybrid सर्च इंजन कहते हैं. जैसे – Google , Yahoo, Bing.

4 – Meta सर्च इंजन

वे सर्च इंजन जिनके पास खुद डाटा नहीं होता है, पर जब उनमे कुछ सर्च किया जाता है तो वे Google , Yahoo जैसे सर्च इंजन से डाटा लेकर अपने यूजर को दिखाते हैं उन्हें Meta Search Engine कहते हैं. जैसे – DuckDuckGo.

5 – विशेष प्रकार के सर्च इंजन

वे सर्च इंजन जो एक विशेष प्रकार के टॉपिक के लिए बने होते हैं या फिर किसी एक विशेष प्रकार के क्षेत्र के लिए बने होते हैं, विशेष प्रकार के सर्च इंजन कहलाते हैं. जैसे – Justdile , Shopping.yahoo.com.

सर्च इंजन का काम

  • इन्टरनेट जहाँ पर सूचनाओ का अथाह भंडार है , उससे हमारी पसंद या हमारे द्वारा खोजी गयी जानकारी तुरंत हमें लाकर देता है.
  • अपनी पसंद की जानकारी तक जल्दी पहुचने में हमारी मदद करता है जिससे हमारा समय बचता है और मेहनत कम लगती है.
  • सर्च इंजन इन्टरनेट पर सभी वेबसाइट की जानकारी को स्टोर करके रखते हैं, जिससे यूजर किसी भी प्रकार की जानकारी को सर्च इंजन में खोज सकता है.

यह लेख भी पढ़ें –

Conclusion: – Search Engine Kaise Kaam Karta Hai

इस लेख में हमने सर्च इंजन के बारे में विस्तार से चर्चा की है. उम्मीद करता हूँ कि अब आप अच्छी तरह समझ गए होंगे कि सर्च इंजन क्या है और  Search Engine Kaise Kaam Karta Hai. आपको मेरे द्वारा लिखा गया यह लेख कैसा लगा कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं और इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करना न भूलिए.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

0Shares
Categories SEO

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

Leave a Comment