Blog Ko Rank Kaise Kare – ब्लॉग को गूगल के #1 पेज में रैंक कैसे करें

आज के इस लेख में हम जानने वाले हैं कि Blog Ko Rank Kaise Kare. अगर आप अपने ब्लॉग को गूगल के पहले पेज में रैंक नहीं करवा पाते हैं तो आपके ब्लॉग पर न तो ट्रैफिक होता है और न ही आप ब्लॉगिंग से पैसे कमा पाते हैं.

जब भी एक नया ब्लॉगर अपना ब्लॉग बनाता है तो उसका मुख्य मकसद होता है कि ब्लॉग को गूगल के पहले पेज पर रैंक करवाना. एक अनुभवी ब्लॉगर जो Blogging के क्षेत्र में काफी समय से है वह तो थोडा – बहुत effort से अपने ब्लॉग को रैंक करवा लेता है लेकिन एक नया ब्लॉगर जिसे Blogging की अधिक जानकारी नहीं होती है उसे ब्लॉग को रैंक करवाने में बहुत मुश्किलें आती हैं.

वैसे ब्लॉग पर आप अनेक प्रकार से ट्रैफिक ला सकते हैं, लेकिन जो सबसे बेस्ट ट्रैफिक होता है वह Organic Traffic है. ब्लॉग पर ऑर्गनिक ट्रैफिक कैसे लायें के विषय में मैंने आपको अपने पिछले लेख में बताया है.

यदि आप भी एक नए ब्लॉगर हैं और आपका ब्लॉग गूगल में रैंक नहीं कर रहा है तो इस लेख के जरिये मैं आपको 15 से भी ज्यादा ऐसे तरीकों के बारे में बताने वाला हूँ जिनके द्वारा खुद मैं अपने ब्लॉग को रैंक करवाता हूँ. और मैंने कुछ महीने पहले ही इस ब्लॉग पर काम करना शुरू किया और आज मेरे बहुत सारे कीवर्ड गूगल के पहले पेज में #1st पोजीशन में रैंक कर रहें हैं.

तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं ब्लॉग को गूगल में पहले नंबर पर रैंक कैसे करें.

ब्लॉग को गूगल के #1 पेज में रैंक कैसे करें

मैंने अपने अनुभवों और रिसर्च के आधार पर आपको ब्लॉग को रैंक करवाने के लिए 17 सबसे बेस्ट तरीके बताएं हैं, मुझे पूरी उम्मीद है कि इस लेख में बताये गए तरीकों को अगर आप अपने ब्लॉग में Apply करते हैं तो जरुर आपका ब्लॉग भी रैंक करेगा.

1 – Top Level Domain खरीदें

आज ब्लॉगिंग में इतना कम्पटीशन हो गया है कि आपको अपने ब्लॉग को रैंक करवाने के लिए एक Top Level डोमेन की जरुरत पड़ती है. कई सारे नए ब्लॉगर सालों तक Subdomain पर ही अपना ब्लॉग बनाए रखते हैं और कड़ी मेहनत के बाद भी उन्हें सफलता नहीं मिलती है.

आपने खुद ही Notice किया होगा कि जो वेबसाइट गूगल में रैंक करती हैं उनके डोमेन Top Level होते हैं, जैसे .com, .net, .org, .in आदि. इसलिए गूगल में रैंक करने का पहला नियम है कि Top Level Domain खरीदें.

साथ ही आप ध्यान रखें कि डोमेन नाम में अपने Niche से सम्बंधित कीवर्ड को शामिल जरुर करें, जिससे आपका ब्लॉग उस कीवर्ड पर भी गूगल में दिखेगा. जैसे मेरे इस डोमेन में Hindi Tech शब्द है जो कि हिंदी भाषा के साथ टेक्नोलॉजी को टारगेट करता है.

2 – ब्लॉग को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट करें

जब आप अपना नया – नया ब्लॉग बनाते हैं तो आपको ब्लॉग के बारे में गूगल को भी बताना पड़ता है, जिसके लिए गूगल ने Google Search Console (GSC) नाम का टूल बनाया है. जब आप अपने ब्लॉग को GSC में सबमिट करते हैं तो गूगल के क्रॉलर आपकी वेबसाइट को क्रॉल करते हैं और अगर आपके वेबपेज Indexable होते हैं तो उन्हें इंडेक्स भी करते हैं.

जब आपके वेबपेज यानि ब्लॉग पोस्ट गूगल में इंडेक्स हो जाते हैं तभी गूगल उन्हें सर्च इंजन रिजल्ट पेज में रैंकिंग देता है. इसलिए अपने ब्लॉग को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट करना जरुरी होता है. एक नयी वेबसाइट को गूगल में इंडेक्स होने के लिए लगभग 1 महीने का समय लग जाता है.

गूगल सर्च कंसोल, ब्लॉग को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट करने तथा ब्लॉग को फ़ास्ट इंडेक्स करने के लिए निम्नलिखित लेख को जरुर पढ़ें –

3 – Low Competition कीवर्ड पर काम करें

आज के समय में ब्लॉगिंग में Competition बहुत अधिक है, प्रतिदिन लगभग हजारों ब्लॉग बनाये जाते हैं. इस स्थिति में आप किसी ऐसे कीवर्ड पर ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं जिसके बारे में पहले से ही गूगल पर हजारों वेबसाइट लिख चुकी हैं तो आपको ब्लॉग रैंक करवाने में बहुत मुश्किल आने वाली है.

क्योंकि आपको अपने प्रतिद्वंदी की वेबसाइट को पीछे करना होगा. अगर आपके प्रतिदंद्वी की वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी, कंटेंट, SEO सब High Quality की तो आपका उस कीवर्ड पर रैंक करना बहुत मुश्किल है.

लेकिन अगर आप ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले अच्छी तरह कीवर्ड रिसर्च करते हैं और ऐसे कीवर्ड Find कर लेते हैं जिसमें Competition बहुत कम है, या गूगल के पास उस कीवर्ड पर जानकारी बहुत कम है तो आपके ब्लॉग के गूगल में रैंक होने की संभावना बढ़ जाती है. शुरुवात में आपको हमेशा Long Tail और Low Competition कीवर्ड पर ही काम करना चाहिए.

कीवर्ड रिसर्च करने के लिए आप Paid Tool भी खरीद सकते हैं और Free Keyword Research Tool के द्वारा भी कीवर्ड रिसर्च कर सकते हैं.

4 – Quality कंटेंट लिखें

“Content is King” यह कहना है खुद गूगल का, अगर आपके कंटेंट में दम नहीं है तो फिर आप चाहें जितना मर्जी हत्कंडे अपना लें आपका ब्लॉग रैंक नहीं करने वाला है. Quality Content का मतलब है ऐसा कंटेंट जो यूजर की Query का सही जवाब दे सके. आप खुद ही सोचिये क्या आप ऐसे ब्लॉग में जाना पसंद करेंगे जिसे पढ़कर आपको अपने प्रश्नों का संतोषजनक जवाब नहीं मिला?

गूगल के एक वेबसाइट को रैंक करने के अनेक सारे फैक्टर हैं लेकिन उनमें से सबसे महत्वपूर्ण है Search Intent. सर्च इंटेंट का मतलब होता है कि यूजर की Query करने के पीछे क्या इरादा है. गूगल सर्च इंटेंट को समझता है और यूजर की Query के Response में सबसे बेस्ट परिणाम उसे दिखाता है.

अगर आप सर्च इंटेंट को समझकर ऐसा आर्टिकल लिखते हैं जो यूजर के सवाल का सही जवाब देता है तो आपका ब्लॉग पोस्ट जरुर गूगल के पहले नंबर पर रैंक करेगा.

एक अच्छा और High Quality ब्लॉग पोस्ट लिखने के लिए आप हमारे ब्लॉग के निम्नलिखित कुछ लेख को पढ़ सकते हैं.

5 – यूनिक ब्लॉग पोस्ट लिखें

आज गूगल बहुत Advance है इसलिए वह किसी भी प्रकार के कॉपीराइट मटेरियल को Allow नहीं करता है. अगर आप दुसरे ब्लॉग से कंटेंट कॉपी करते हैं तो गूगल को आपकी इस Activity के बारे में पता चल जाता है और गूगल आपके ब्लॉग पोस्ट को इंडेक्स नहीं करता है तथा कुछ कॉपीराइट Strick आने पर गूगल आपके ब्लॉग को ही अपनी लिस्ट से ब्लॉक कर देता है. फिर URL डालने के बाद भी आप अपने ब्लॉग को गूगल पर नहीं देख पायेंगे.

अगर आप यूनिक आर्टिकल नहीं लिख सकते हैं तो शायद आपको ब्लॉगिंग नहीं करनी चाहिए, क्योंकि ब्लॉग ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ पर हम अपने विचार, ज्ञान या अनुभवों को दुनिया के साथ शेयर करते हैं ना कि अन्य लोगों के. इसलिए अगर आप ऐसा कंटेंट लिख सकते हैं जो अन्य सभी से अलग और यूनिक हो तभी ब्लॉगिंग के फील्ड में उतरें नहीं तो सिर्फ आपका समय बरबाद होगा.

यूनिक कंटेंट के साथ आपको कॉपीराइट फ्री इमेज का इस्तेमाल भी अपने ब्लॉग में करना चाहिए. इन्टरनेट पर अनेक सारी ऐसी वेबसाइट मौजूद हैं जहाँ से आप अपने ब्लॉग के लिए कॉपीराइट फ्री इमेज डाउनलोड कर सकते हैं.

6 – ब्लॉग का On Page SEO करें

अपने ब्लॉग पोस्ट को आपने यूजर के साथ – साथ सर्च इंजन के लिए भी Optimize करना पड़ता है जिससे कि सर्च इंजन के क्रॉलर भी आपकी ब्लॉग पोस्ट को समझ सकें. इसके लिए आपको अपने ब्लॉग का On Page SEO बेहतर तरीके से करना पड़ता है.

On Page SEO पूरी तरह से आपके हाथ में है, आप जितने अच्छे से अपने कंटेंट को सर्च इंजन क्रॉलर के लिए ऑप्टिमाइज़ करेंगे वैसी ही आपको रैंकिंग भी मिलेगी. On Page SEO के अनेक सारे फैक्टर हैं, जिन्हें समझने के लिए आप निम्नलिखित लेख को पढ़ें.

7 – Supporting आर्टिकल लिखें

एक ब्लॉग पोस्ट को रैंक करवाने के लिए Supporting आर्टिकल भी एक महत्वपूर्ण फैक्टर हैं. Supporting Article ऐसे आर्टिकल को कहा जाता है जो Main आर्टिकल से Relevant होते हैं.

एक उदाहरण से समझते हैं, माना आप अपने ब्लॉग को “SEO क्या है” कीवर्ड पर रैंक करवाना चाहते हैं, और इस कीवर्ड पर आपने एक आर्टिकल लिखा है. तो इसके लिए आप निम्न कुछ कीवर्ड पर Relevant Supporting आर्टिकल लिख सकते हैं.

  • On Page SEO क्या है
  • Off Page SEO क्या है
  • Technical SEO क्या है
  • SEO कैसे करें
  • White Hat SEO क्या है आदि.

Supporting आर्टिकल लिखकर आपने उन्हें Main आर्टिकल के साथ लिंक कर देना है. ऐसे में क्रॉलर को यह बात समझ आती है कि आपके ब्लॉग पर यूजर के लिए SEO के बारे में अन्य ब्लॉग की तुलना में अधिक कंटेंट मौजूद है इसलिए वह आपके ब्लॉग को पहले Priority देता है, और आपका ब्लॉग रैंक करता है. इस प्रकार से आप अपने ब्लॉग को रैंक करवा सकते हैं.

8 – High Quality Backlink बनायें

Backlink भी ब्लॉग को रैंक करने के लिए एक महत्वपूर्ण फैक्टर है. बैकलिंक ब्लॉग पोस्ट को रैंक करवाने में एक Supporting की भूमिका निभाते हैं, और गूगल का वेबसाइट पर ट्रस्ट बनाते हैं. अगर आपको किसी High अथॉरिटी वेबसाइट से Do-follow बैकलिंक मिल जाता है तो गूगल की नजर में आपकी वेबसाइट की Reputation भी बढती है.

क्योंकि गूगल को Do-follow बैकलिंक से यह संकेत जाता है कि High अथॉरिटी वाली वेबसाइट भी आपके वेबसाइट को सपोर्ट कर रही हैं, इसका मतलब है कि आपका कंटेंट यूजर के लिए लाभदायक है और आपका ब्लॉग रैंक करने लगता है. साथ में ही बैकलिंक से आपके वेबसाइट की Domain Authority और Page Authority भी बढती है.

एक ओर जहाँ बैकलिंक फायदेमंद होती हैं वहीँ दूसरी तरफ इसके कुछ नुकसान भी हैं. अगर आप Low Quality वेबसाइट से बैकलिंक बना लेते हैं तो आपके ब्लॉग का Spam Score बढ़ जाता है और गूगल के नज़रों में भी आपकी वेबसाइट की Reputation ख़राब हो जाती है और वह आपके ब्लॉग की रैंकिंग डाउन कर देता है. इसलिए हमेशा अच्छे वेबसाइट से ही High Quality बैकलिंक बनायें.

आप गेस्ट पोस्ट, डायरेक्टरी सबमिशन, ब्लॉग सबमिशन आदि तरीकों से अपने ब्लॉग के लिए अच्छे गुणवत्ता वाले बैकलिंक बना सकते हैं.

9 – ब्लॉग को सोशल मीडिया पर शेयर करें

सोशल मीडिया की पॉवर को आप लोग जानते ही होंगे, अनेक सारे लोग सोशल मीडिया के द्वारा रातों रात फेमस बन जाते हैं. आप अपने ब्लॉग को पोपुलर बनाने के लिए सोशल मीडिया पर ब्लॉग को प्रमोट कर सकते हैं.

जब भी आप ब्लॉग बनाते हैं तो आपको अपने ब्लॉग के लिए कम से कम 5 सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अकाउंट बना लेना चाहिए और ब्लॉग पोस्ट को वहां भी शेयर करना चाहिए. ब्लॉग पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करने से आपके ब्लॉग पर Instant ट्रैफिक आयेगा, और अगर लोग आपके पोस्ट को पसंद करेंगे तो गूगल भी उसे पसंद करेगा.

सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करने का आपको यह फायदा भी मिलेगा कि आप अलग – अलग सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपनी ऑडियंस बना सकते हैं.

10 – वेबसाइट की स्पीड फ़ास्ट करें

2022 में वेबसाइट को रैंक करने के लिए वेबसाइट की स्पीड भी बहुत महत्वपूर्ण है. क्योंकि यूजर इन्टरनेट पर किसी ऐसे ब्लॉग को पढना पसंद नहीं करते हैं जो लोड होने में काफी समय लगाती है. आप खुद YouTube का उदाहरण देख सकते हैं जहाँ एक 5 सेकंड की Ad भी कितनी लंबी लगती है.

अगर आप एक अच्छी SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट लिख लेते हैं, और उसके लिए बैकलिंक भी बना लेते हैं लेकिन अगर आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड सही नहीं होगी तो गूगल आपकी वेबसाइट को रैंक नहीं करवाने वाला है. क्योंकि जो वेबसाइट लोड होने में अधिक समय लेती है वह यूजर के अनुभव को ख़राब करती है.

अगर आपकी वेबसाइट गलती से भी रैंक करने लगती है तो यूजर आपके वेबसाइट पर Pogo sticking जैसी एक्टिविटी करते हैं जिससे आपका बाउंस रेट भी बढ़ जाता है और गूगल स्वतः ही आपकी वेबसाइट की रैंकिंग Down कर देता है.

वेबसाइट की स्पीड बढाने के लिए आपको एक अच्छे होस्टिंग में निवेश करने की जरुरत है, एक नए ब्लॉगर के लिए Bluehost सबसे अच्छी वेब होस्टिंग है जिसमें बहुत कम दाम में आपको एक साल के लिए होस्टिंग मिल जाती है और साथ में एक डोमेन नाम भी फ्री मिल जाता है. और Bluehost होस्टिंग को खुद वर्डप्रेस भी recommended करता है. इसलिए आप Bluehost से होस्टिंग लेकर अपनी वेबसाइट की स्पीड को बढ़ा सकते हैं.

11 – ब्लॉग का डिजाईन सिंपल रखें

कई सारे ब्लॉगर ब्लॉग को चमकाने के चक्कर में अनावश्यक CSS, JavaScript का इस्तेमाल करते हैं जो ब्लॉग को एक अच्छा लुक देने के बजाय बहुत Heavy बना देते हैं. जिससे न तो यूजर सही से ब्लॉग को पढ़ पाता है और ना ही वेबसाइट समय पर लोड होती है.

लेकिन अगर आप ब्लॉग को Simple रखते हैं तो यूजर आसानी से आपके ब्लॉग को पढ़ सकता है. गूगल को भी यही चाहिए, अगर यूजर आपके ब्लॉग से खुश है तो गूगल आपके ब्लॉग को रैंक करवाएगा.

इसलिए ब्लॉग को ज्यादा चमक – धमक बनाने के बजाय Simple रखें. हमेशा कोशिस करें कि अधिक विज्ञापन, Pop – up विंडो, अनावश्यक CSS आदि ब्लॉग में न लगायें. जब आप ब्लॉग को डिजाईन करें तो ब्लॉग को Silo Structure बनायें .

12 – वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनायें

आज के समय में अधिकतर लोग मोबाइल से ही इन्टरनेट एक्सेस करते हैं और ब्लॉग को भी मोबाइल से ही पढ़ते हैं. इसलिए ब्लॉग का मोबाइल फ्रेंडली होना बहुत आवश्यक है.

ब्लॉग को मोबाइल फ्रेंडली के साथ – साथ Responsive होना भी जरुरी है, Responsive का मतलब है कि ब्लॉग सभी स्क्रीन पर सही तरीके से खुल सके. क्योंकि अगल – अलग कंपनियों के मोबाइल का स्क्रीन साइज़ भी अलग – अलग होता है और कई लोग टेबलेट से भी इन्टरनेट इस्तेमाल करते हैं.

अगर आपका ब्लॉग वर्डप्रेस पर है तो ब्लॉग को responsive और mobile friendly बनाने के लिए अनेक सारे थीम मौजूद हैं. आप Generatepess का इस्तेमाल कर सकते हैं, यह Responsive होने के साथ Lightweight भी है जो आपके ब्लॉग की स्पीड को भी बढाती है. काफी सारे ब्लॉगर इसी थीम का इस्तेमाल अपने ब्लॉग पर करते हैं. हम भी अपनी वेबसाइट में Generatepess का इस्तेमाल कर रहे हैं.

आपका ब्लॉग मोबाइल फ्रेंडली है या नहीं यह Check करने के लिए आप गूगल के ऑफिसियल Mobile Friendly Tool का इस्तेमाल कर सकते हैं.

13 – Schema Data का इस्तेमाल करें

अगर आप एक नए ब्लॉगर हैं तो शायद ही आपको Schema Data के बारे में जानकारी होगी. Schema Data जिसे कि Schema Markup या Rich Snippet के रूप में भी जाना जाता है, यह ब्लॉग पोस्ट का एक माइक्रो डेटा होता है जो सम्पूर्ण पोस्ट से जुडी जानकारी को सर्च रिजल्ट में ही दिखा देता है.

अगर आप अपने पोस्ट में Schema Data का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपके ब्लॉग के रैंक होने की संभावना बढ़ जाती है. आप अपने ब्लॉग पोस्ट के अनुसार How to, Table, FAQ, Review आदि Schema Data का इस्तेमाल कर सकते हैं. वर्डप्रेस में आपको अनेक सारे प्लगइन मिल जाते हैं जिनके द्वारा आप Schema Data लगा सकते हैं.

14 – ब्लॉग के Technical SEO को सही रखें

ब्लॉग को गूगल पर रैंक करवाने के लिए ब्लॉग का Technical SEO भी सही होना चाहिए. अगर आपके ब्लॉग में कोई Technical Error होती हैं तो इस कारण से भी आपका ब्लॉग रैंक नहीं करता है.

ब्लॉग का Technical SEO सही रखने के लिए आप महीने में कम से कम 2 बार अपनी वेबसाइट का SEO Audit जरुर करें. अगर आपको Technical SEO की पूरी Checklist चाहिए तो आप हमारे ब्लॉग के Technical SEO क्या है वाले लेख को देखें. Technical SEO में आप निम्नलिखित कुछ बातों का ध्यान रखें.

15 – नियमित रूप से पोस्ट करें

ब्लॉग को रैंक करवाने के लिए आपको नियमित रूप से अपने ब्लॉग में नए – नए पोस्ट पब्लिश भी करने होते हैं. अगर आप एक पोस्ट को लिखकर बैठ जाओगे और सोचोगे कि आपका यह पोस्ट रैंक करेगा तो ऐसा नहीं होने वाला है. जब आप नियमित रूप से पोस्ट पब्लिश करते हैं तभी आपके ब्लॉग की अथॉरिटी बढती है साथ में आपके ब्लॉग का Crawl Budget भी बढ़ता है.

Crawl Budget बढ़ने से गूगल के क्रॉलर आपके ब्लॉग पर अधिक समय देते हैं और आपके ज्यादा से ज्यादा पोस्ट को इंडेक्स करते हैं. इसलिए नियमित रूप से एक Schedule में पोस्ट पब्लिश करें.

16 – पुराने पोस्ट को अपडेट करें

आप नए पोस्ट को पब्लिश करने के साथ – साथ पुराने पोस्ट को भी अपडेट करते रहें. और जब आप पोस्ट को अपडेट करते हैं तो उसकी डेट को भी Change करें. पुराने पोस्ट को अपडेट करने से आपका कोई भी पोस्ट Outdate नहीं रहता है, और गूगल भी आपके ब्लॉग पोस्ट को रैंक करता है.

17 – धैर्य रखें

अगर आप इन सब तरीकों को फॉलो करते हैं तो इसके बाद भी आपको कम से कम 6 महीने तक धैर्य रखना है, क्योंकि Google Sandbox Effect के कारण नए ब्लॉग जल्दी रैंक नहीं करते हैं. एक नए ब्लॉग को रैंक करने में 3 से 6 महीने का समय लगता है, वो भी अगर आपके काम में निरंतरता है तो, इसलिए Blogging में धैर्य रखना बहुत जरुरी है.

FAQ: ब्लॉग को रैंक कैसे करें

Q – एक नए ब्लॉग को रैंक होने में कितना समय लगता है?

अगर एक नए ब्लॉगर हैं और आप नियमित रूप से अपने ब्लॉग में काम करते हैं तो आपको ब्लॉग को रैंक करने में 6 महीने से लेकर 1 साल तक का समय लग जाता है.

Q – ब्लॉग को गूगल के #1 पेज पर रैंक कैसे करें?

हमने इस लेख में आपको 15 से भी अधिक तरीके बताएं हैं जिनके द्वारा आप अपने ब्लॉग को गूगल के पहले पेज में रैंक करवा सकते हैं.

अंतिम शब्द: Blog Ko Rank Kaise Kare हिंदी में

आज के इस लेख में मैंने आपको बताया कि Blog Ko Rank Kaise Kare. यह सारे टिप्स मैंने गहन रिसर्च और अपने अनुभवों के आधार पर आपको बताएं हैं. मुझे पूरी उम्मीद है कि अगर आप लेख में बताये गए तरीकों को अपने ब्लॉग में Apply करते हैं तो आपका ब्लॉग भी जरुर रैंक करेगा.

इस लेख में इतना ही, उम्मीद करता हूँ आपको यह लेख पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें और अगर आपके कोई प्रशन हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

1Shares

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

Leave a Comment