Domain Authority Kya Hai जानिए DA की पूरी जानकारी हिंदी में

अगर आप एक Blogger हैं तो आपने कभी न कभी Domain Authority का नाम जरुर सुना होगा. पर क्या आप जानते हैं Domain Authority Kya Hai, डोमेन अथॉरिटी कैसे बढाया जाता है और वेबसाइट की रैंकिंग के लिए यह कितना महत्वपूर्ण है तो इस लेख में आपको Domain Authority (DA) से सम्बंधित सारी जानकारी प्राप्त हो जाएगी.

अगर आपने कभी पहले DA के बारे में नहीं सुना है तो बता दूँ कि यह एक तरह का वेबसाइट का स्कोर है, जो यह बताती है कि किसी भी सर्च इंजन में किसी वेबसाइट की रैंक करने की क्षमता कितनी है.

जिसकी DA अधिक होगी उसकी रैंकिंग की क्षमता उतनी अधिक और जिसकी DA कम होगी उसकी रैंकिंग की क्षमता उतनी कम होती है. लेकिन यह हर बार सही नहीं होता है क्योकि Google ने अपने Ranking Factor में Domain Authority और Page Authority के बारे में नहीं बताया है.

लेकिन बड़े – बड़े SEO Expert का मानना है कि Domain Authority भी Website के Ranking में एक Important Factor है. Domain Authority के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें.

डोमेन अथॉरिटी क्या है (What is Domain Authority in Hindi)

Domain Authority एक ऐसी matrix होती है, जो यह बताती है कि किसी वेबसाइट की सर्च इंजन के नजरिये से क्या value है. Domain Authority (DA) का साधारण सा मतलब होता है, वेबसाइट की Reputation.

किसी भी वेबसाइट की गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन के नजरों में क्या Reputation है इसकी गणना DA के द्वारा की जाती है.DA की माप logarithmic Scale पर की जाती है. Logarithmic Scale एक ऐसा Scale होता है जिसमे कम अंक प्राप्त करने के लिए कम मेहनत लगती है , और अधिक अंक प्राप्त करने में अधिक मेहनत की जरुरत पड़ती है.

जैसे स्कूल की परीक्षा में होता है 1 से 20 नंबर लाना आसान होता है, 20 से 40 लाना थोडा मुश्किल, 40 से 60 लाना थोडा और मुश्किल और 60 से ऊपर नंबर लाना बहुत मुश्किल होता है. अंक की इसी माप को logarithmic Scale कहते हैं. इसी Scale के आधार पर किसी वेबसाइट को DA के नंबर मिलते हैं.

डोमेन अथॉरिटी को किसने बनाया

अब तक आप समझ गए होंगे Domain Authority Kya Hai. पर यह जानना बहुत ही महत्वपूर्ण है कि Domain Authority को किसने बनाया. क्योकि लेख के शुरुवात में ही मैंने आपको बताया था कि डोमेन अथॉरिटी का Google से कोई लेना देना नहीं है ना ही Google के 200 Ranking Factor में डोमेन अथॉरिटी के बारे में बताया गया है.

तो अब जानते हैं डोमेन अथॉरिटी matrix को किसने बनाया. Domain Authority को इन्टरनेट में Search Engine Optimize की एक सबसे बड़ी वेबसाइट में से एक MOZ के द्वारा बनाया गया है MOZ ने ही Page Authority और Spam Score की Matrix को भी बनाया है.

हाल ही 2019 में MOZ ने Domain Authority का नया Update बनाया जिसे Domain Authority 2.0 का नाम दिया गया.

हालाँकि Google को पता नहीं है कि Domain Authority क्या है. लेकिन Website को Rank कराने के लिए यह भी एक Factor है. क्योकि MOZ के Algorithm में 40 Factor हैं जिसके आधार पर वह किसी भी वेबसाइट की Domain Authority की गणना करता है. ये सारे Factor Link Profile से Related हैं.

डोमेन अथॉरिटी को कैसे बढ़ाएं (How to Increase Domain Authority in Hindi)

MOZ ने DA को देने के लिए 40 फैक्टर बनाये है, जो पूरी तरह केवल MOZ को ही पता हैं. लेकिन कुछ इसके महत्वपूर्ण फैक्टर हैं जिससे DA बढाई जा सकती है.

1 – Backlink बनाना

Domain Authority का सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर Link Profile है. आपको Backlink जितनी High Authority वेबसाइट से मिलती हैं, उतना आपके DA का स्कोर भी बढेगा. Backlink बनाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण Tips आप Follow कर सकते है जैसे –

  • Backlink हमेशा ऐसी वेबसाइट से बनाना चाहिए जिसका DA पहले से ही अच्छा हो.
  • Spamy Website पर बैकलिंक बनाने से बचें.
  • अपनी Niche के Relevant वेबसाइट से ही बैकलिंक बनायें.
  • Quality of Backlink पर ध्यान दें न कि Quantity of Backlink पर.

2 – Internal liking करना

जब एक ही वेबसाइट के किसी एक पोस्ट में दुसरे पोस्ट को लिंक किया जाता है तो उसे Internal Linking कहते हैं. Internal Link करने से यूजर अधिक देर तक वेबसाईट पर रहते हैं, जिससे बाउंस रेट कम होता है, और Domain Authority के Increase होने की संभावना बढ़ जाती है.

3 – High Quality Content लिखना 

अगर आप अच्छी कंटेंट रिसर्च के साथ एक यूनिक और High Quality आर्टिकल लिखते ही तो आपकी SERP (Search Engine Result Page) पर टॉप में रैंक करने की संभावना बढ़ जाती है.

क्योकि आप सभी लोग जानते होंगे गूगल भी कहता है Content is King. अगर आपका कंटेंट रैंक करेगा तो Domain Authority में भी सुधार होगा. इसलिए हमेशा अपने Blog के लिए High Value Content लिखना चाहिए.

ब्लॉग के लिए एक अच्छा आर्टिकल लिखने के लिए आप निम्न ब्लॉग पोस्ट को पढ़ सकते हैं –

4 – Website की स्पीड 

वेबसाइट की लोडिंग स्पीड रैंकिंग में एक बहुत ही महत्वपूर्ण फैक्टर है, अगर आपकी वेबसाइट जल्दी लोड हो जाती है तो इससे आपकी रैंकिंग और Domain Authority दोनों में सुधार होगा.

5 – Website को Regular Update करना

आपको अपनी वेबसाइट को नियमित रूप से अपडेट करते रहना चाहिए, लगातार पोस्ट डालने चाहिए, इससे आपकी DA में भी सुधार होगा, और वेबसाइट की रैंकिंग भी Increase होगी.

6 – धैर्य रखना होगा ( Must Important )

हां यह बात एकदम सही है, आप सोचेगे कि आज आपने अपनी वेबसाइट बना दी तो एक दो महीने में आपकी डोमेन अथॉरिटी बढ़ जाएगी. लेकिन ऐसा कभी नहीं होगा , जैसे – जैसे आपकी वेबसाइट पुरानी होती जाएगी निश्चित रूप से आपकी डोमेन अथॉरिटी भी बढ़ेगी. पर यह समय कितना होगा यह आपकी मेहनत पर निर्भर करता है.

गूगल किसी भी नयी वेबसाइट पर इतना ज्यादा भरोसा नहीं करता है, इसलिए एकदम से किसी वेबसाइट को वह रैंक नहीं करता है. आपको SERP में अच्छा स्थान पाने के लिए धैर्य रखने की जरुरत है.

वेबसाइट के रैंक करने के लिए DA कितनी होनी चाहिए

यह सबसे महत्वपूर्ण सवाल है जो अक्सर सभी लोग जानना चाहते हैं कि किसी भी वेबसाइट की रैंकिंग को बढाने के लिए डोमेन अथॉरिटी कितनी होनी चाहिए. आपको बता दूँ यह पूरी तरह निर्भर करता है आप किस Niche पर काम कर रहे हो.

माना आप एक ऐसे Niche कर काम कर रहे हो जिसमे पहले से ऐसी वेबसाइट रैंक कर रही हैं जिनकी डोमेन अथॉरिटी अधिक है तो ऐसे में आपको अपनी वेबसाइट को रैंक कराने के लिए उनसे बेहतर DA बनानी होगी.

और अगर आप ऐसे Niche पर काम करते हो जिसमे वे वेबसाइट रैंक कर रही हैं जिनकी DA आपसे कम है तो आप उस Niche में आसानी से अपनी वेबसाइट को रैंक करवा सकते हो.

एक वास्तविक जीवन का छोटा सा उदहारण दे रहा हूँ जिससे आप अच्छे से समझ जाओगे –

माना एक कक्षा में 10 बच्चे हैं , जिनमे से एक आप भी हो. और परीक्षा में आपके 80 नंबर आये, 80 नंबर तो आपके लिए बहुत हैं  पर अगर बाकि 9 बच्चों के 80 से ज्यादा नंबर आयेंगे तो आपके नंबर ख़राब हो जायेंगे. मतलब आपके नंबर की कोई value नहीं रहेगी उन 9 बच्चों के सामने.

अगर अन्य बच्चों के 80 से कम नंबर आते हैं  तो आपके नंबर की value बढ़ जाएगी. और आप कक्षा में पहले स्थान पर रहोगे. ठीक इसी प्रकार DA भी वेबसाइट की रैंकिंग को प्रभावित करती है.

Domain Authority कैसे Check करें

Domain Authority को check करने के लिए सबसे best MOZbar का Chrome Extension है, जिसे आप अपने chrome browser में इनस्टॉल करके आसानी से सटीक DA check कर सकते हो.

इसके अलावा website seo checker नाम का एक SEO टूल है , यहाँ से भी आप किसी भी वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी को check कर सकते हैं.

यह लेख भी पढ़ें –

हमने क्या सीखा : Domain Authority in Hindi 

आज के इस लेख के माध्यम से हमने सीखा कि Domain Authority Kya Hai और डोमेन अथॉरिटी को कैसे बढ़ाएं. साथ में ही Domain Authority से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवालों के बारे में आपको बताया. 

आपको अपनी वेबसाइट पर नियमित रूप से अपडेट करते रहना चाहिए जिससे आपकी Ranking में सुधार होगा. और जितनी भी Matrix हैं जैसे Domain Authority, Alexa Rank , Page Authority सभी में भी सुधार होता रहेगा.

उम्मीद करता हूँ आपको मेरे द्वारा लिखा गया यह लेख पसंद आया होगा. अगर Domain Authority से जुड़े आपके मन में कोई प्रशन हैं तो आप कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकते हैं और इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें. धन्यवाद ||

Categories SEO

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

2 thoughts on “Domain Authority Kya Hai जानिए DA की पूरी जानकारी हिंदी में”

Leave a Comment