Page Authority Kya Hai और PA को कैसे बढ़ाएं

क्या आप जानते हैं Page Authority Kya Hai, SEO के नजरिये से यह कितना महत्वपूर्ण है ? Domain Authority व Page Authority में क्या अंतर है ? और Page Authority ( PA ) को कैसे बढ़ाएं ?

अगर आप इस प्रकार के प्रश्नों का उत्तर नहीं जानते हैं तो आपके लिए ही मैंने यह पोस्ट लिखी है. इसमे आपको पेज अथॉरिटी से सम्बंधित सारी जानकारी मिल जाएगी. Domain Authority के बारे में हमने आपको अपने पिछले लेख में बताया था.

Page Authority Kya Hai ( PA पेज अथॉरिटी क्या है )

PA एक ऐसी Metrix होती जो हमारे किसी एक पेज के किसी भी सर्च इंजन में रैंकिंग कि क्षमता को बताती है.

DA की तरह ही PA की गणना Logarithmic Scale पर की जाती है. जिस Webpage की PA अधिक होगी उस Webpage की रैंकिंग Ability भी अधिक होगी.

Page Authority को किसने बनाया

DA की तरह ही PA को भी MOZ ने बनाया है. Page Authority का भी गूगल से कोई लेना देना नहीं है. गूगल के अपने 200 फैक्टर में कही भी DA – PA की बात नहीं की है, पर अच्छी पेज अथॉरिटी से रैंकिंग में सुधार होता है. इसलिए अपनी DA , PA को सुधारने की कोशिस करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें –

Page Authority को कैसे बढ़ाएं ( How to Increase Page Authority )

पेज अथॉरिटी को बढाने के भी 40 फैक्टर हैं , जो MOZ को पता हैं. लेकिन इसके कुछ महत्वपूर्ण फैक्टर हैं जिसकी मदद से आप अपनी पेज अथॉरिटी को बढ़ा सकते हैं.

1 – अच्छे Backlink बनाना 

PA का एक सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर Link Profile है. जिस Page के जितने अधिक Strong Backlink होंगे उस Webpage की रैंकिंग में भी सुधार होगा , और उसकी PA भी बढ़ेगी.

2 – On Page SEO सही से करें 

हमेशा ON Page SEO को अच्छे तरीके से करें. ON Page SEO एक ऐसा फैक्टर है जो हमारे हाथ में होता है. हम जितनी अच्छे से ON Page SEO करेंगे उतनी ही हमारी Webpage की रैंकिंग Ability बढ़ेगी, और जो webpage रैंक करेगी उसकी PA भी बढ़ेगी.

3 – Regular Update करना 

आपको नियमित रूप से अपनी वेबसाइट पर काम करते रहना होगा. जितना Regular काम आप करोगे उतना ही आपको Benefit मिलेगा.

4 – Interlinking करें 

Interlinking बहुत महत्वपूर्ण होती है. इसकी मदद से हमारे साईट का बाउंस रेट कम होता है. और रैंकिंग में भी सुधार देखने को मिलता है.

5 – वेबसाइट की Loading Speed को सही करें 

आप सभी जानते होंगे Internet कि दुनिया में Speed कितने मायने रखती है. कोई भी User उस वेबसाइट पर जाना पसंद नहीं करता है जिसकी Loading Speed बहुत कम हो. अगर आपके वेबसाइट की Speed सही नहीं है तो आपकी रैंकिंग भी डाउन हो जाएगी.

6 – Mobile Friendly साईट बनाये 

आजकल अधिकतर इन्टरनेट लोग मोबाइल पर चलाते है. इसलिए वेबसाइट का Mobile Friendly होना बहुत ही आवश्यक है. एक Mobile Friendly webpage की रैंक करने संभावना एक Non Mobile Friendly Page से अधिक होती है. आप AMP का प्रयोग कर सकते है वेबसाइट को Mobile Friendly बनाने के लिए.

7 – बढ़िया Content लिखकर 

आप अपने कंटेंट को अच्छे तरीके से लिखकर Page Authority को बढ़ा सकते हैं. कंटेंट लिखते समय आप कुछ बातों का ध्यान दे सकते हो जो आपके Page Authority को Increase करने में मदद करेंगे –

  • Interesting Content लिखें जिससे User आपका पूरा content पढ़ें.
  • जिस विषय पर आप Content लिख रहे हो उसको अच्छे से Explain करें.
  • आपका content दुसरे लोगों के लिए Helpful होना चाहिए.
  • Content Easy to read होना चाहिए. ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने से बचें जो कठिन हों और यूजर की समझ में ना आयें.
  • Content को समय – समय पर Update करते रहिये.

यह भी पढ़ें –

8 – धैर्य रखें 

जैसे – जैसे एक वेबसाइट पुरानी होती जाती है , उसकी PA भी बढती है. इसलिए आपको धैर्य रखने की जरुरत है , आप नियमित रूप से काम करते रहे जरुर आपकी PA सुधरेगी.

तो ये वह 7+ तरीकें जिनका प्रयोग करके आप अपने Website की Page Authority को बढ़ा सकते हैं.

What is a Good Page Authority in Hindi ( अच्छी पेज अथॉरिटी क्या है ) ?

यह बहुत से लोगों का सवाल होता है कि एक webpage को रैंक कराने के लिए Page Authority कितनी होनी चाहिए. पर इसका कोई सटीक जवाब नहीं है.

आपको पहले Analysis करना होगा कि आप जिस Keyword पर आप आर्टिकल लिख रहे हैं उस Keyword पर जो वेबसाइट रैंक कर रही है उनकी PA कितनी है. अगर आपने उनसे ऊपर रैंक करवाना है तो आपको अपनी Page Authority उनसे अधिक करनी होगी है.

अगर आपकी PA 80 है और जो वेबसाइट रैंक कर रही हैं उनकी PA 80 से अधिक है तो आपके लिए 80 PA भी अच्छी नहीं है. और यदि अगर आपकी PA 40 है और जो वेबसाइट टॉप पर रैंक कर रही हैं उनकी PA 40 से कम है तो आपके लिए 40 PA भी बहुत अच्छी है.

Page Authority को कैसे check करें ?

पेज अथॉरिटी को Check करने के लिए आप MOZBAR का Chrome Extension add कर सकते हो , इसकी मदद से आप किसी भी वेबसाइट की PA आसानी से Check कर सकते हो.

दूसरा तरीका है websiteseochecker पर जिस वेबसाइट की आप PA check करना चाहते हो उसका URL यहाँ पर Paste कर दें. इसकी मदद से भी आप किसी भी वेबसाइट की पेज अथॉरिटी को check कर सकते हो.

यह भी पढ़ें –

Domain Authority और Page Authority में अंतर क्या है ?

  • Domain Authority पुरे Domain की सर्च इंजन में रैंकिंग की Ability को बताती है जबकि Page Authority किसी एक Particular Page की सर्च इंजन में रैंकिंग की Ability को बताती है.
  • Domain Authority को Page Authority की तुलना में अधिक महत्व दिया जाता है.

Page Authority और Page Rank में अंतर क्या है ?

  • Page rank गूगल का एक product है जो किसी भी वेबसाइट की रैंकिंग क्षमता को बताता है. जबकि Page Authority MOZ का Product है.
  • Page rank की माप 0 से 10 तक के बीच की जाती है, जबकि Page Authority की माप 0 से 100 के बीच में की जाती है.
  • 2013 के बाद गूगल ने Page rank का Update Publish करना बंद कर दिया था. जबकि Page Authority को MOZ अभी भी regularly Update करता है.

हमने क्या सीखा : Page Authority in Hindi

आज के इस लेख के माध्यम से मैंने आपको Page Authority Kya Hai और Page Authority को बढ़ाने कि लिए 7 टिप्स के बारे में बताया साथ में ही Page Authority से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण प्रशनों के जवाब आपको बताये उम्मीद करता हूँ इस लेख से आपको कुछ सीखने को जरुर मिला होगा इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें. धन्यवाद ||

आगे बढ़ें –

0Shares
Categories SEO

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

4 thoughts on “Page Authority Kya Hai और PA को कैसे बढ़ाएं”

Leave a Comment