Schema Markup Kya Hai और इसे वेबसाइट में कैसे Add करें

दोस्तों जब से SEO की शुरुवात हुई तो इसका एक ही मकसद रहा है कि अपने कंटेंट या वेबपेज के बारे में सर्च इंजन को बेहतर तरीके से समझाना. इसके लिए वेबमास्टर अपने वेबपेज में कीवर्ड, मेटा टैग, स्कीमा डेटा इत्यादि का इस्तेमाल करते हैं.

आज के समय में वेबपेज में Schema Markup का इस्तेमाल व्यापक रूप से किया जाता है, लेकिन फिर भी अनेक सारे ब्लॉगर ऐसे हैं जिन्हें Schema Markup Kya Hai के विषय में जानकारी नहीं है, इसलिए मैंने सोचा क्यों ना आपको स्कीमा मार्कअप के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करवाई जाये.

Schema Markup के बारे में जानना हर एक वेबसाइट ओनर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए आप इस लेख को अंत तक पढ़ें क्योंकि इस लेख में मैंने आपको स्कीमा मार्कअप की पूरी जानकारी दी है.

तो चलिए आपका अधिक समय लिए बिना शुरू करते हैं इस लेख को और सबसे पहले जानते हैं Schema Markup क्या है विस्तार से.

स्कीमा मार्कअप क्या है (What is Schema Markup in Hindi)

Schema Markup जिसे कि structured data भी कहा जाता है, यह किसी वेबसाइट या वेबपेज का एक माइक्रो डेटा होता है जो सर्च इंजन को वेबपेज के बारे में समझाता है. या आसान भाषा में कहें तो वेबपेज की इनफार्मेशन एक ऐसे Language में जो सर्च इंजन क्रॉलर बेहतर तरीके से समझता है उसे Schema Markup कहते हैं.

किसी भी वेबपेज के Visual और HTML दो Form होते हैं. Visual फॉर्म Human Readable होता है जिसे हम इंसान आसानी से समझ सकते हैं. वहीं दूसरी ओर HTML फॉर्म Machine Readable होता है जिसे सर्च इंजन क्रॉलर समझते हैं. वेबपेज के HTML Form में ऐसे कोड में वेबपेज की इनफार्मेशन Add कर दी जाती है जिसे सर्च इंजन बोट्स समझ पाते हैं.

स्कीमा मार्कअप का इस्तेमाल करने से सर्च इंजन वेबपेज को सर्च इंजन रिजल्ट पेज (SERP) में rich snippet वाले सेक्शन में दिखाते हैं जिससे वेबपेज यूजर को SERP में यूनिक तरीके से दिखाई देता है, और यूजर को SERP में ही अपनी Query का एक संक्षिप्त जवाब मिल जाता है.

कुल मिलाकर कहें तो वेबपेज में इस्तेमाल किया जाने वाला ऐसा डेटा जिसे सर्च इंजन समझते हैं, उसे ही Schema Markup या Schema Data कहा जाता है.

स्कीमा मार्कअप की परिभाषा (Definition of Schema Markup)

Schema Markup एक कोड होता है जिसके अन्दर हमारे वेबपेज की कुछ इनफार्मेशन एक ऐसी भाषा में होती है जिसे क्रॉलर बेहतर तरीके से समझता है.

स्कीमा मार्कअप को किसने बनाया

Schema Markup को सभी सर्च इंजन जैसे गूगल, याहू, बिंग, यानडेक्स आदि ने मिलकर 2011 में बनाया था. Schema Markup को बनाने का मुख्य उद्देश्य यह था कि क्रॉलर वेबपेज के बारे में बेहतर तरीके से समझ सके.

क्या SEO में स्कीमा मार्कअप महत्वपूर्ण है

SEO में स्कीमा मार्कअप बहुत महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि यह ऐसे Language में लिखा जाता है जिसे क्रॉलर समझता है. और क्रॉलर जितने अच्छे से वेबपेज को समझेगा उतनी ही बेहतर रैंकिंग वेबपेज को देगा.

स्कीमा मार्कअप के इस्तेमाल से सर्च इंजन Rich Snippet में वेबपेज को दिखाता है, जो यूजर को वेबपेज पर क्लिक करने के लिए आकर्षित करता है. Schema Markup का सबसे बड़ा फायदा यह है कि सर्च इंजन इसमें लिखी इनफार्मेशन को बेहतर तरीके से समझता है और सही कीवर्ड या Query पर वेबपेज को बेहतर रैंकिंग देता है.

आसान शब्दों में स्कीमा मार्कअप की SEO में Importance समझे तो यह वेबपेज की Ranking और CTR को Improve करने में मददगार है.

स्कीमा मार्कअप के प्रकार (Types of Schema Markup)

लेख को यहाँ तक पढने पर आपको स्पष्ट हो गया होगा कि Schema Markup Kya Hai, चलिए अब स्कीमा मार्कअप के प्रकारों को भी समझ लेते हैं.

Schema Markup अनेक प्रकार के होते हैं आप अपने वेबपेज के अनुसार Relevant स्कीमा डेटा को अपने वेबपेज में Add कर सकते हैं, कुछ प्रमुख स्कीमा मार्कअप के प्रकारों के बारे में हमने आपको यहाँ नीचे बताया है.

#1 – Review Scheme Markup

अगर आप अपने ब्लॉग में प्रोडक्ट Review आर्टिकल लिखते हैं तो आपको Review Schema का इस्तेमाल करना चाहिए. Review Schema का इस्तेमाल करने से प्रोडक्ट की कुछ इनफार्मेशन यूजर SERP पर ही देख सकता है.

#2 – Article Schema Markup

Article Schema सबसे सामान्य प्रकार का स्कीमा मार्कअप है जिसका इस्तेमाल अधिकतर ब्लॉग पोस्ट, न्यूज़ में किया जाता है. आर्टिकल स्कीमा के द्वारा सर्च इंजन को वेबपेज की हैडलाइन, पब्लिश करने का समय, इमेज आदि को समझना आसान होता है. विभिन्न प्रकार से आर्टिकल के लिए विभिन्न आर्टिकल स्कीमा का उपयोग किया जाता है, जैसे कि ब्लॉग पोस्ट, न्यूज़.

#3 – Recipe Schema Markup

अगर आप अपनी वेबसाइट में विभिन्न व्यंजनों की रेसिपी के बारे में बताते हैं तो आपको Recipe Schema का इस्तेमाल करना चाहिए, इससे आपकी वेबसाइट rich snippet में दिखाई देगी.

जैसे मैंने Momos Recipe लिखकर सर्च किया तो सर्च इंजन ने कुछ ऐसे रिजल्ट मुझे दिखाये, जिसमें एक बड़ी इमेज के बाद रेसिपी को बनाने में लगने वाला समय तथा रेसिपी के लिए जरुरी चीजें शामिल हैं (नीचे इमेज देखें).

Recipe Schema

#4 – Video Schema Markup

अगर आप अपने वेबपेज में विडियो embed करते हैं तो आपको विडियो स्कीमा का इस्तेमाल करना चाहिए. विडियो स्कीमा का इस्तेमाल करने से सर्च इंजन क्रॉलर को आपके वेबपेज पर मौजूद विडियो को क्रॉल और इंडेक्स करने में आसानी होती है. और साथ ही यूजर की सर्च Query के अनुसार विडियो SERP पर दिखाई देते हैं.

#5 – FAQ Schema Markup

अगर आप अपने वेबपेज में कुछ FAQ Add करना चाहते हैं तो उसके लिए FAQ Schema का इस्तेमाल करें. FAQ Schema का इस्तेमाल करने से आपके वेबपेज के FAQ निम्न प्रकार से सर्च इंजन रिजल्ट पेज में दिखाई देते हैं (नीचे इमेज देखें).

FAQ Schema

#6 – How to Schema Markup

अगर आप How to Guide पोस्ट लिखते हैं तो आपको How to Schema का इस्तेमाल जरुर करना चाहिए. इससे बहुत High Chance होते हैं कि आपका ब्लॉग पोस्ट पहले नंबर पर रैंक करें. How to स्कीमा का इस्तेमाल करके एक Quick Guide यूजर को SERP आर देखने को मिल जाती है.

जैसे मैंने How to earn Money Online लिखकर सर्च किया तो पहले नंबर पर जो रिजल्ट मुझे देखने को मिला वह कुछ इस प्रकार है.

How to Schema

#7 – Review & Rating Schema Markup

प्रोडक्ट खरीदने से पहले हर कोई Review और रेटिंग देखना चाहता है. आप रेटिंग स्कीमा का इस्तेमाल करके अपने विजिटर को स्टार रेटिंग देने का ऑप्शन दे सकते हैं. इस प्रकार का स्कीमा मार्कअप अन्य यूजर को प्रोडक्ट खरीदने में मदद करता है.

Rating Schema

#8 – Organization Schema Markup

Organization Schema का इस्तेमाल करने से सर्च इंजन आपकी कंपनी का स्पष्ट परिचय करवाता है, जिसमें कंपनी के महत्वपूर्ण लोग, कंपनी का स्थान, कंपनी की शुरुवात की तिथि, कर्मचारियों की संख्या आदि शामिल होते हैं.

Organization Schema

#9 – Person Schema Markup

वेबपेज में Person Schema का इस्तेमाल करके सर्च इंजन किसी व्यक्ति के बारे में जरुरी जानकारी अलग से दिखाता है. जैसे कि व्यक्ति का नाम, उम्र, परिवार, उपलब्धियां आदि. यूजर बिना वेबसाइट में विजिट किये व्यक्ति की जानकारी को SERP में अलग से देख सकता है. जैसा कि आप नीचे इमेज में देख सकते हैं.

Person Schema

#10 – Local Business Schema Markup

Local Business स्कीमा मार्कअप स्थानीय कंपनियों के लिए फायदेमंद है, यह यूजर को कंपनी का नाम, पता, खुलने का समय, संपर्क आदि जानकारी खोजने में मदद करता है. लोकल बिज़नस स्कीमा मार्कअप को Add करने के लिए आपको Local SEO के बारे में जानकारी होनी चाहिए.

इस प्रकार का स्कीमा मार्कअप का इस्तेमाल करने से सर्च इंजन को आपके लोकल बिज़नस को समझने में आसानी होगी, और सर्च इंजन आपके बिज़नस का पता, खुलने – बंद होने का समय, रेटिंग आदि दिखाते हैं.

जैसे मैंने गूगल पर सर्च किया कि Best Restaurant Near Me तो सर्च इंजन ने मेरे आस – पास के रेस्टोरेंट मेरे सामने Show किये, जिससे मुझे रेस्टोरेंट का नाम, पता, रेटिंग, खुलने – बंद होने का समय SERP पर ही दिख गया.

Local Business Schema

#11 – Event Schema Markup

Event स्कीमा मार्कअप किसी schedule किये गए Event के बारे में अतिरिक्त जानकारी प्रदान करवाते हैं, जैसे Event की दिनांक, स्थान आदि. जैसे मैंने Ind vs SL match schedule लिखकर सर्च किया तो इस प्रकार के रिजल्ट मुझे देखने को मिले (नीचे इमेज देखें).

Event Schema

#12 – Product Schema Markup

किसी Specific प्रोडक्ट की बिक्री के लिए Product Schema का इस्तेमाल किया जाता है. Product Schema का इस्तेमाल करने से प्रोडक्ट के बारे में अतिरिक्त इनफार्मेशन SERP पर Show होती है.

Product Schema

वर्डप्रेस में स्कीमा मार्कअप कैसे Add करें

Schema Markup Kya Hai को समझने के बाद अब हम अपने वर्डप्रेस ब्लॉग में स्कीमा मार्कअप Add करना सीखेंगे.

आप WordPress में Rank Math और Yoast SEO प्लगइन के द्वारा स्कीमा मार्कअप Add कर सकते हैं.

जब आप इन प्लगइन को इनस्टॉल करेंगे तो Setup करते समय आपको पुछा जायेगा कि आप किस प्रकार का Schema Add करना चाहते हैं, आप अपने कंटेंट के अनुसार Schema Type को सेलेक्ट कर लीजिये. अगर आपका Normal ब्लॉग है तो आप Article Schema या Blog Post Schema को सेलेक्ट करें.

इतना करते ही आर्टिकल स्कीमा Automatic आपके हर ब्लॉग पोस्ट में Add हो जायेगा. आप किसी Specific Post में Different Schema का इस्तेमाल भी कर सकते हैं.

ब्लॉगर में स्कीमा मार्कअप कैसे Add करें

अगर आपकी वेबसाइट ब्लॉगर पर है तो आपको पहले Schema Data को ऑनलाइन टूल के द्वारा Generate करना होगा और फिर आप किसी Specific Post या पूरे ब्लॉग में स्कीमा डेटा के कोड को लगा सकते हैं. आप अपने कंटेंट के अनुसार ही स्कीमा डेटा Type को Generate करें. Schema Data Generate करने के लिए कुछ बेस्ट टूल निम्नलिखित हैं –

FAQ For Schema Markup in Hindi

Q – स्कीमा डेटा को वेबसाइट के किस सेक्शन में लगायें?

आप स्कीमा डेटा को किसी भी सेक्शन Head, Body या Footer में लगा सकते हैं. क्योंकि क्रॉलर पूरे वेबपेज को क्रॉल करता है.

Q – एक वेबपेज में कितने प्रकार के स्कीमा डेटा का इस्तेमाल कर सकते हैं?

आप अपने वेबपेज में मौजूद कंटेंट के अनुसार विभिन्न स्कीमा डेटा का इस्तेमाल कर सकते हैं. आपको हमेशा यह कोशिस करनी चाहिये कि Schema Data आपके वेबपेज के कंटेंट के Relevance हो.

Q – स्कीमा मार्कअप को किसने बनाया?

स्कीमा मार्कअप को 2011 में सभी सर्च इंजन जैसे गूगल, याहू, बिंग आदि ने मिलकर बानाया.

Q – स्कीमा मार्कअप का दूसरा नाम क्या है?

Schema Markup को Structure Data या Schema Data भी कहा जाता है.

यह लेख भी पढ़ें –

निष्कर्ष: Schema Markup Kya Hai हिंदी में

तो दोस्तों आज के इस लेख में हमने जाना कि Schema Markup Kya Hai, इसके प्रकार तथा अपनी वेबसाइट में Schema Data कैसे Add करें. अगर आप सर्च इंजन रिजल्ट पेज में बेहतर रैंकिंग प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको जरुर Schema Markup का इस्तेमाल अपने वेबपेज में करना चाहिए.

तो दोस्तों इस लेख में इतना ही, उम्मीद करते हैं आपके लिए हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी फायदेमंद रही होगी. यदि आपके स्कीमा मार्कअप को लेकर कुछ प्रश्न हैं तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं. और अंत में आपसे निवेदन करेंगे कि इस लेख को सोशल मीडिया के द्वारा अपने अधिक से अधिक दोस्तों के साथ शेयर करें.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

पोस्ट को रेटिंग दे

0Shares
Categories SEO

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

3 thoughts on “Schema Markup Kya Hai और इसे वेबसाइट में कैसे Add करें”

Leave a Comment