CPA Marketing Kya Hai, कैसे करें और इससे पैसे कैसे कमायें?

दोस्तों क्या आप जानते हैं CPA Marketing Kya Hai, CPA मार्केटिंग काम कैसे करती है, CPA मार्केटिंग कैसे करें और CPA मार्केटिंग से पैसे कैसे कमायें. यदि हाँ तो आज का यह ब्लॉग पोस्ट आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण होने वाला है. इस लेख में हम आपको CPA मार्केटिंग की उपरोक्त सभी जानकारी के साथ इसके फायदे और नुकसानों के बारे में भी बताने वाले हैं जिससे आप Decide कर सकें कि क्या CPA मार्केटिंग आपके लिए सही है.

CPA मार्केटिंग को समझने के लिए हमें पहले एफिलिएट मार्केटिंग को अच्छे से समझना होगा. जिसके लिए आप हमारे ब्लॉग के Affiliate Marketing क्या है वाले लेख को पढ़ें. इसमें हमने आपको विस्तार से एफिलिएट मार्कटिंग के बारे में बताया है.

संक्षिप्त रूप से कहूँ तो एफिलिएट मार्कटिंग एक ऐसी मार्केटिंग है जिसमें आपको प्रोडक्ट की बिक्री पर कमीशन मिलता है लेकिन CPA मार्केटिंग में आपको यूजर के एक्शन लेने पर कमीशन मिलता है. CPA मार्केटिंग को समझने के लिए लेख को अंत तक पढना जारी रखें.

सीपीए मार्केटिंग का पूरा नाम (CPA marketing Full Form)

CPA Marketing Kya Hai को समझने से पहले हम CPA मार्केटिंग का फुल फॉर्म समझ लेते हैं. CPA मार्केटिंग का फुल फॉर्म Cost Per Acquisition होता है जिसे कि Cost Per Action भी कहा जाता है. CPA मार्केटिंग को हिंदी में प्रति अधिग्रहण लागत कहा जाता है.

  • CPA Marketing Full Form in English – Cost Per Acquisition/ Cost Per Action
  • CPA Marketing Full Form in Hindi – प्रति अधिग्रहण लागत/ प्रति कार्य लागत

सीपीए मार्केटिंग क्या है (What is CPA Marketing)

CPA (Cost Per Action) मार्केटिंग एक ऐसी मार्केटिंग तकनीक है या कहें तो ऑनलाइन मूल्य निर्धारण है जिसमें विज्ञापनदाता किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए एफिलिएट को भुगतान करते हैं. इन कार्यों में फॉर्म फिल करना, न्यूज़लैटर सब्सक्राइब करना, विडियो देखना, Sign up करना, खरीददारी करना, ऐप डाउनलोड करना आदि हो सकते हैं.

CPA Marketing विज्ञापनदाता और एफिलिएट के बीच एक साझेदारी होती है जिसमें एफिलिएट विज्ञापनदाताओं के लिए मार्केटिंग सेवाएँ प्रदान करते हैं और जब कोई यूजर मार्केटिंग उद्देश्यों के अनुसार कार्यों को पूरा करते हैं तो एफिलिएट को कमीशन मिलता है.

CPA मार्केटिंग को आप एफिलिएट मार्केटिंग की भांति ही समझ सकते हैं. एफिलिएट मार्केटिंग में एफिलिएट को प्रोडक्ट की बिक्री पर कमीशन मिलता है लेकिन CPA मार्केटिंग में अन्य कामों को पूरा करने के लिए भी कमीशन मिलता है जो कि हमने आपको उपर बताये हैं.

सीपीए मार्केटिंग मॉडल काम कैसे करती है (CPA Marketing Model)

सीपीए मार्कटिंग को अच्छे से समझने के लिए आपको CPA Marketing Model को समझना होगा. CPA Marketing strategy में बात करें तो मुख्य रूप से तीन element होते हैं –

  • Advertisers (विज्ञापनदाता)

एक Advertisers कोई कंपनी, बिज़नस या व्यक्ति हो सकता है जिसे अपने विशेष कार्यों को पूरा करवाने के लिए एफिलिएट की जरूरत होती है. इसके लिए विज्ञापनदाता CPA नेटवर्क को ज्वाइन करता है या फिर खुद का CPA नेटवर्क लांच करता है.

एफिलिएट CPA नेटवर्क को ज्वाइन करके सोशल मीडिया, Blog, YouTube चैनल आदि माध्यमों के द्वारा विज्ञापनदाता के लिए मार्केटिंग करते हैं. एफिलिएट विज्ञापनदाता के लिए Organic या Paid High Quality ट्रैफिक लेकर आते हैं, और विज्ञापनदाता के कार्यों को पूरा करने में सहायता करते हैं. जब कोई यूजर उस कार्य को करता है तो एफिलिएट कमीशन प्राप्त करते हैं.

  • Affiliate (संबद्ध)

Affiliate एक Social Media influencer या फिर एक Blogger हो सकता है जो विज्ञापनदाता की सेवाओं को सोशल मीडिया या ब्लॉग के द्वारा प्रमोट करते हैं. ऐसा करने का उन्हें कमीशन मिलता है. आमतौर पर विज्ञापनदाता एफिलिएट मैनेजर भी नियुक्त करते हैं जो एफिलिएट की मदद करें और विज्ञापनदाता के कार्यों को पूरा करने के लिए बेस्ट एफिलिएट को अपने प्रोग्राम से जोड़ें.

  • CPA Network (सीपीए नेटवर्क)

CPA नेटवर्क एक ऐसा प्लेटफ़ॉर्म या वेबसाइटें होती हैं जो विज्ञापनदाता और एफिलिएट को आपस में जोड़ने का काम करती है. मार्केट में अनेक सारे CPA नेटवर्क प्रोग्राम हैं जिन्हें एफिलिएट ज्वाइन कर सकते हैं और अपने मतलब के सर्विस को प्रमोट करके कमीशन प्राप्त कर सकते हैं.

ये CPA नेटवर्क एफिलिएट मैनेजर भी प्रदान करते हैं जो कि कंपनियों को अपनी आवश्यकताओं के लिए सबसे बेस्ट एफिलिएट लोगों को सेलेक्ट करते हैं. आप गूगल पर Best CPA Network लिखकर सर्च करेंगें तो आपको आपने सारे CPA नेटवर्क प्रोग्राम मिल जायेगें जिन्हें आप ज्वाइन कर सकते हैं.

कुछ CPA नेटवर्क निम्नलिखित हैं –

  1. MaxBounty
  2. CrakRevenue
  3. ClickDealer
  4. CPAlead
  5. CPAMatica

सीपीए मार्केटिंग कैसे करें (CPA Marketing Tips)

ब्लॉग पोस्ट को यहाँ तक पढने के बाद आप समझ गए होंगें कि CPA Marketing Kya Hai, चलिए अब जानते हैं CPA मार्केटिंग कैसे करें. हमने यहाँ आपके साथ CPA मार्केटिंग करने की कुछ बेस्ट टिप्स को शेयर किया है आप शुरुवात में इन्हें फॉलो करके CPA मार्केटिंग करके पैसे कमा सकते हैं.

#1 – CPA Network ज्वाइन करें

CPA मार्केटिंग से पैसे कमाने के लिए सबसे पहले आपको ऐसे CPA नेटवर्क को ज्वाइन करना होगा जो आपके लिए बेस्ट हैं. CPA नेटवर्क को ज्वाइन करते समय आपको यह प्लान करके चलना होगा कि आप किस प्रकार की कंपनी के ऑफर को प्रमोट करना चाहेगें.

अपने लिए बेस्ट CPA नेटवर्क को ज्वाइन करने के लिए आपको अच्छे से रिसर्च करने की जरुरत होगी. तभी आप एक भरोसेमदं CPA नेटवर्क को खोज पायेंगें. कई CPA नेटवर्क प्रोग्राम को ज्वाइन करने के लिए आपको Approval भी लेना पड़ता है, इसलिए आपको वहाँ पर यह बताना होता है कि आप कैसे विज्ञापनदाता को लाभ पहुंचा सकते हैं.

#2 – Best Offer Find करें

CPA नेटवर्क प्लेटफ़ॉर्म वेबसाइटें सर्च इंजन की तरह काम करती हैं जिसमें आप सर्च करके Best CPA ऑफर find कर सकते हैं. आप CPA वेबसाइटों में कीवर्ड, नेटवर्क, केटेगरी, प्राइस आदि के आधार पर ऑफर सर्च कर सकते हैं. जिससे आपको ऑफर को खोजने में आसानी होगी.

#3 – Traffic strategies बनायें

CPA ऑफर को प्रमोट करने के लिए आपको एक सही ट्रैफिक रणनीति बनानी होगी. अगर आपके पास Already ब्लॉग या सोशल मीडिया पेज हैं तो आप वहाँ पर CPA ऑफर को प्रमोट करके कमीशन प्राप्त कर सकते हैं, या फिर आप पेड PPC मार्केटिंग के through भी CPA ऑफर को प्रमोट कर सकते है.

CPA ऑफर को प्रोमोट करने के लिए कुछ बेस्ट ट्रैफिक सोर्स निम्नलिखित हैं –

  • SEO – आप सर्च इंजन के अनुरूप अपने वेबपेजों को कस्टमाइज करके किसी कीवर्ड पर रैंक करवाकर ट्रैफिक ला सकते हैं.
  • PPC मार्केटिंग – यह एक पेड मार्केटिंग है जिसमें आप लक्षित ऑडियंस तक CPA ऑफर को पहुंचा सकते हैं. PPC मार्केटिंग में विज्ञापन सर्च इंजन में दिखाई देते हैं.
  • Social Media – आप किसी एक सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर प्रोफेशनल पेज बना सकते हैं और वहाँ अपने फॉलोवर को बढाकर CPA ऑफर को प्रमोट कर सकते हैं. आप सोशल मीडिया विज्ञापनों के द्वारा भी CPA ऑफर को प्रमोट कर सकते हैं.

#4 – CPA मार्केटिंग से पैसे कमायें

जब कोई यूजर एफिलिएट के लिंक से विज्ञापनदाता के विशेष कार्यों को पूरा करता है तो इसका कुछ प्रतिशत कमीशन एफिलिएट को मिलता है जो कि एफिलिएट की कमाई होती है. एफिलिएट मार्केटिंग की तुलना में CPA मार्केटिंग से पैसे कामना अधिक आसान है क्योंकि इसमें आपको केवल यूजर के एक्शन लेने का पैसा मिलता है. जबकि एफिलिएट मार्कटिंग में प्रोडक्ट की बिक्री का पैसा मिलता है. अगर आप सही रणनीति के तहत CPA मार्कटिंग करते हैं तो आप अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं.

CPA मार्केटिंग के फायदे (Advantage of CPA Marketing)

एक एफिलिएट तथा विज्ञापनदाता के लिए CPA मार्केटिंग काफी फायदेमंद है, इसके कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • CPA मार्कटिंग में एफिलिएट को यूजर के एक्शन का कमीशन मिलता है, इसमें एफिलिएट को यूजर के Wallet तक पहुँचने की जरुरत नही होती है.
  • चूँकि CPA मार्केटिंग से विज्ञापनदाताओं को direct result मिलते हैं इसलिए इसमें कमीशन भी अच्छा मिलता है.
  • मार्केट में अनेक सारे CPA नेटवर्क उपलब्ध है जिन्हें आप ज्वाइन कर सकते हैं.
  • CPA मार्केटिंग में विज्ञापनदाता को अच्छे रिजल्ट मिलते हैं क्योंकि एफिलिएट के पास ऐसे ऑडियंस होते हैं जो उन पर भरोसा करते हैं और उनके द्वारा recommended कार्यों को फॉलो करते हैं.
  • एफिलिएट और विज्ञापनदाता दोनों के लिए CPA मार्कटिंग का इस्तेमाल करना आसान है.

CPA मार्केटिंग के नुकसान (Disadvantage of PPC Marketing)

हालांकि CPA मार्केटिंग बहुत अधिक लाभ प्रदान करता है लेकिन इसके फायदों के साथ – साथ कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • एफिलिएट मार्केटिंग की तुलना में CPA मार्केटिंग के नियम strict होते हैं क्योंकि विज्ञापनदाता को एक विशिष्ट ट्रैफिक की आवश्यकता होती है.
  • अनेक सारे अच्छे CPA नेटवर्क का Approval लेना आसान नहीं है. आमतौर पर CPA नेटवर्क को ज्वाइन करने के लिए आपके पास एक वेबसाइट होनी चाहिए.
  •  CPA मार्केटिंग में आपको विशिष्ट ऑडियंस तक पहुंचना होता है जिसके लिए आपको सही रणनीति बनानी होती है. और इसमें आपका अधिक समय लग सकता है.
  • अगर आप सही CPA नेटवर्क को ज्वाइन नहीं करते हैं तो आपके साथ स्कैम भी हो सकता है.

FAQ: CPA Marketing Kya Hai

Q – सीपीए मार्केटिंग का फुल फॉर्म क्या है?

CPA मार्केटिंग का फुल फॉर्म Cost Per Acquisition या Cost Per Action होता है

Q – सीपीए मार्केटिंग का अर्थ क्या है?

CPA मार्केटिंग का हिंदी अर्थ प्रति अधिग्रहण लागत होता है, यह एक ऐसी मार्केटिंग है जिसमें विज्ञापनदाता एफिलिएट से अपने मार्केटिंग उद्देश्यों को पूरा करवाने पर कमीशन देते हैं.

Q – क्या सीपीए मार्केटिंग अभी भी लाभदायक है?

जी हाँ, सीपीए मार्केटिंग अभी भी लाभदायक है क्योंकि इन्टरनेट यूजर की संख्या में दिन – प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है. और यूजर हर दिन इन्टरनेट पर कई तरह की गतिविधि करते हैं.

Q – क्या सीपीए मार्केटिंग आसान है?

वैसे एक कारण से सीपीए मार्केटिंग को एफिलिएट मार्कटिंग से आसान समझा जाता है क्योंकि इसमें आपको केवल लीड भेजने का भुगतान किया जाता है. लेकिन आपको Quality लीड भेजनी होती है जिससे विज्ञापनदाता को कन्वर्शन मिल सके. इसलिए सीपीए मार्केटिंग को बहुत अधिक आसान भी नहीं कहा जाता सकता है.

Q – सीपीए नेटवर्क क्या हैं?

CPA नेटवर्क ऐसी वेबसाइटें होती हैं जो विज्ञापनदाता और एफिलिएट को एक साथ जोड़ने का काम करती है.

यह लेख भी पढ़ें –

अंतिम शब्द

तो दोस्तों यह थी CPA Marketing Kya Hai की पूरी जानकारी. CPA मार्केटिंग विज्ञापनदाता और एफिलिएट दोनों के लिए बहुत फायदेमंद है, क्योंकि इसमें कन्वर्शन अच्छे मिलते हैं. हमें पूरी उम्मीद है कि इस ब्लॉग पोस्ट को पढने के बाद आप CPA मार्कटिंग को अच्छे से समझ गए होंगें. यदि अभी भी आपके मन में सीपीए मार्केटिंग से जुड़े कोई सवाल हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं, हम जल्दी ही आपके सवालों का जवाब देंगें.

0Shares

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||