Landing Page क्या है, कैसे बनायें और इसके फायदे

दोस्तों क्या आप जानते हैं Landing Page Kya Hai, लैंडिंग पेज कैसे बनायें, लैंडिंग पेज के फायदे, लैंडिंग पेज और वेबसाइट में अंतर तथा लैंडिंग पेज और होम पेज में क्या अंतर है. अगर आप लैंडिंग पेज के बारे जानना चाहते हैं तो एकदम सही ब्लॉग पोस्ट आये हैं. आज इस पोस्ट में हम लैंडिंग पेज के बारे में विस्तृत रूप से बताने वाले हैं.

डिजिटलीकरण के इस युग में सभी लोग अपने बिज़नस को ऑनलाइन लाना चाहते हैं, और ऑनलाइन बिज़नस में अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए लैंडिंग पेज बहुत महत्वपूर्ण होते हैं. लैंडिंग पेज Focused और High Converting होते हैं, इनमें विजिटर को किसी प्रकार का Distraction नहीं होता है. लैंडिंग पेज से आप अपने मार्केटिंग गोल को जल्दी प्राप्त कर सकते हैं.

तो चलिए आपका ज्यादा समय ना लेते हुए शुरू करते हैं आज के इस लेख को और जानते हैं लैंडिंग पेज क्या है विस्तार से.

लैंडिंग पेज क्या है (What is Landing Page in Hindi)

डिजिटल मार्केटिंग में Landing Page एक Single वेबपेज होता है, जिसे मुख्य रूप से मार्केटिंग Campaign के लिए बनाया जाता है. लैंडिंग पेज को किसी एक Specific मार्केटिंग उद्देश्य को पूरा करने के लिए डिजाईन किया जाता है जैसे लीड जनरेट करना, प्रोडक्ट और सर्विस की बिक्री बढ़ाना आदि. मार्केटिंग उद्देश्यों के अनुसार ही लैंडिंग पेज बनाये जाते हैं.

लैंडिंग पेज को एक ही फोकस के साथ डिजाईन किया जाता है, इनमें किसी प्रकार का Distraction नहीं होता है. इसलिए लैंडिंग पेज डिजिटल मार्केटिंग में बहुत Powerful माने जाते हैं. लैंडिंग पेज विजिटर को Convince करने में सक्षम होते हैं जिससे कि लैंडिंग पेज पर आने वाला विजिटर इच्छित एक्शन ले.जैसे आप अपने बिज़नस के लिए लीड जनरेट करना चाहते हैं तो आप ऐसा लैंडिंग पेज बनायेंगें जिससे कि विजिटर Convince हो सके आपको अपनी ईमेल या फोन नंबर देने में.

लैंडिंग पेज का इस्तेमाल सामान्य रूप से पेड विज्ञापनों में किया जाता है. जब आप गूगल, फेसबुक, ट्विटर आदि किसी प्लेटफ़ॉर्म पर पेड विज्ञापन चलाते हैं तो आपको लैंडिंग पेज की जरुरत होती है. जब कोई विजिटर आपके विज्ञापन पर क्लिक करता है तो वह लैंडिंग पेज पर पहुंचता है जहाँ पर आपके प्रोडक्ट या सर्विस की इनफार्मेशन के साथ एक Call to Action लिंक होती है, और अगर वह आपके प्रोडक्ट में Interested है तो वह उसे खरीद लेता है.

लैंडिंग पेज पर एक ही प्रोडक्ट की इनफार्मेशन होती है, अगर आप एक से अधिक प्रोडक्ट की इनफार्मेशन लैंडिंग पेज पर देने की भूल करते हैं तो विजिटर कंफ्यूज हो सकते हैं, और इसका आपको नुकसान हो सकता है.

अगर एक लाइन में लैंडिंग पेज को समझें तो लैंडिंग पेज एक standalone वेबपेज होता है जिसे किसी एक विशेष मार्केटिंग उद्देश्य को पूरा करने के लिए डिजाईन किया जाता है.

लैंडिंग पेज कैसे बनायें (How to Create Landing Page)

मार्केट में अनेक सारे फ्री और पेड सॉफ्टवेयर हैं जहाँ पर आप बहुत ही आसानी से लैंडिंग पेज बना सकते हैं. यहाँ मैंने आपको लैंडिंग पेज बनाने के लिए कुछ बेस्ट फ्री प्लेटफ़ॉर्म के बारे में बताया है. आप इन प्लेटफ़ॉर्म में अपनी Gmail ID से Sign up करके आसानी से लैंडिंग पेज बना सकते हैं.

  • Linktr.ee
  • Wix
  • Google Site
  • systeme.io
  • WordPress.com आदि.

लैंडिंग पेज को ऑप्टिमाइज़ कैसे करें

लैंडिंग पेज बनाने से पहले आप यह Decide कर लीजिये कि आपका लैंडिंग पेज बनाने का उद्देश्य क्या है, जैसे आप लीड जनरेट करने के लिए लैंडिंग पेज बना रहे हैं या फिर प्रोडक्ट बेचने के लिए आदि. जब आपको लैंडिंग पेज बनाने का Goal Clear होगा तो आपको इसे Targeted ऑडियंस के अनुसार ऑप्टिमाइज़ करने में ज्यादा समस्या नहीं होगी.

Goal Clear करने के बाद आप आवश्यकता अनुसार इमेज, विडियो, फॉर्म, कंटेंट आदि का इस्तेमाल करके लैंडिंग पेज बना सकते हैं. कहने का मतलब है कि आपको अपने मार्केटिंग उद्देश्यों के अनुसार ही लैंडिंग पेज को बनाना है.

लैंडिंग पेज पर ट्रैफिक कैसे लायें

अगर आपने अपने बिज़नस के लिए लैंडिंग पेज बना लिया है तो मार्केटिंग उद्देश्यों को पूरा करने के लिए आपको लैंडिंग पेज में ऐसे विजिटर को लाना होगा जिन्हें वाकई में आपके बिज़नस में इंटरेस्ट है. आप ऑर्गनिक और पेड दोनों प्रकारों से लैंडिंग पेज पर विजिटर को ला सकते हैं.

Organic Method

जब आप फ्री में अपने लैंडिंग पेज पर ट्रैफिक लाते हैं उसे Organic ट्रैफिक कहा जाता है. हालांकि ऑर्गनिक ट्रैफिक लाने के लिए आपको निरंतर काम करने के साथ 3 से 6 महीने का इन्तजार करना पड़ सकता है. लैंडिंग पेज पर ऑर्गनिक ट्रैफिक लाने के लिए आप निम्नलिखित तरीकों को फॉलो कर सकते हैं.

  • Facebook Page

आप फेसबुक पर बिज़नस पेज बना सकते हैं और नियमित रूप से कंटेंट पब्लिश करके अपने लैंडिंग पेज पर ऑर्गनिक ट्रैफिक प्राप्त कर सकते हैं.

  • Facebook Group

लैंडिंग पेज पर ऑर्गनिक ट्रैफिक लाने का फेसबुक ग्रुप अच्छा माध्यम है. आप अपने बिज़नस केटेगरी से सम्बंधित ग्रुप को ज्वाइन कर सकते हैं और वहाँ पर लोगों के सवालों का जवाब देकर अपने लैंडिंग पेज पर ट्रैफिक ला सकते हैं.

  • Instagram

अगर आप इन्स्टाग्राम पर नियमित रूप से कंटेंट शेयर करते हैं तो आपको अच्छी Reach मिलती है. आप इन्स्टाग्राम पर एक बिज़नस पेज बनायें और प्रतिदिन कम से कम 2 पोस्ट शेयर करें, इससे आपके फॉलोवर बढेंगें. और साथ ही इन्स्टा Bio में लैंडिंग पेज का लिंक add करें, जिससे कि जो भी यूजर आपकी प्रोफाइल चेक करेगा वह आपके लैंडिंग पेज तक भी पहुँच जायेगा.

  • Quora

लैंडिंग पेज पर फ्री ट्रैफिक लाने का Quora भी एक बहुत अच्छा प्लेटफ़ॉर्म है. आप Quora पर अपने बिज़नस से Related Space को ज्वाइन कर सकते हैं और वहाँ पर लोगों के सवालों का जवाब दे सकते हैं. साथ में ही आप जवाब में अपने लैंडिंग पेज का लिंक भी add करें.

  • Pinterest

Pinterest एक इमेज शेयरिंग सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म है जहाँ पर आप अपने बिज़नस से Related कंटेंट को इमेज के रूप में पिन कर सकते हैं. Pinterest किसी भी पिन में लिंक add करने का विकल्प भी देता है इसलिए आप अपने पिन में लैंडिंग पेज का लिंक दे सकते हैं और फ्री में लैंडिंग पेज पर ट्रैफिक प्राप्त कर सकते हैं.

इनके अलावा भी आप विभिन्न सोशल मीडिया चैलनों का उपयोग करके लैंडिंग पेज पर ऑर्गनिक ट्रैफिक ला सकते हैं.

Paid Method

ऐसा ट्रैफिक जिसके लिए हमें पैसे खर्च करने पड़ते हैं उसे पेड ट्रैफिक कहते हैं, आप विभिन्न प्लेटफ़ॉर्म जैसे गूगल, फेसबुक आदि के द्वारा लैंडिंग पेज पर पेड ट्रैफिक ले सकते हैं. चूँकि पेड ट्रैफिक में आपको पैसे खर्च करने पड़ते हैं इसलिए इसमें रिजल्ट भी तुरंत मिल जाते हैं. अधिकांश लोग लैंडिंग पर पर पेड ट्रैफिक ही लाना पसंद करते हैं.

लैंडिंग पेज पर पेड ट्रैफिक लाने के कुछ फेमस तरीके निम्नलिखित हैं –

  • Paid Search Ads

लगभग सभी सर्च इंजन पेड विज्ञापन की सुविधा प्रदान करवाते हैं. आप गूगल, बिंग जैसे लोकप्रिय सर्च इंजन पर पेड विज्ञापन चलाकर लैंडिंग पेज पर ट्रैफिक ला सकते हैं. लैंडिंग पेज से अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए Paid Search Ads सबसे बेस्ट हैं.

  • Social Media Ads

सर्च इंजन की तरह ही लगभग सभी सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म भी पेड विज्ञापन की सुविधा देते हैं. आप अपने ऑडियंस के अनुसार फेसबुक, इन्स्टाग्राम, ट्विटर आदि प्लेटफ़ॉर्म पर पेड विज्ञापन चलाकर लैंडिंग पेज पर ट्रैफिक भेज सकते हैं.

  • Email Campaign

ईमेल मार्केटिंग एक बहुत ही प्रभावशाली मार्केटिंग है जिसमें अच्छे कन्वर्शन प्राप्त होते हैं. आप पेड मार्केटिंग से विजिटर की ईमेल कलेक्ट कर सकते हैं और फिर उन्हें ईमेल मार्केटिंग टूल से बल्क में ईमेल Send कर सकते हैं. ईमेल में आप अपने लैंडिंग पेज का लिंक जरुर add करें.

वेबसाइट और लैंडिंग पेज में अंतर

एरिक्ले को यहाँ तक पढने के बाद आप समझ गए होंगें कि Landing Page Kya Hai, अब लैंडिंग पेज और वेबसाइट के बीच अंतर को भी समझ लेते हैं. वेबसाइट और लैंडिंग पेज के बीच अंतर को हमने नीचे table के द्वारा आपको समझाया है –

वेबसाइट लैंडिंग पेज
वेबसाइट में अनेक सारे वेबपेज होते हैं.लैंडिंग पेज एक सिंगल वेबपेज होता है.
वेबसाइट को लम्बे समय के लिए बनाया जाता है.लैंडिंग पेज को कुछ समय के लिए ही बनाया जाता है.
वेबसाइट किसी Specific Goal पर फोकस नहीं होती है.लैंडिंग पेज एक Specific Goal पर फोकस होती है.
वेबसाइट पर विजिटर Distract होते हैं.लैंडिंग पेज पर सिसिटर Distract नहीं होते हैं.
वेबसाइट पर Multiple लिंक होते हैं जो अलग – अलग वेबपेजों पर Redirect होते हैं.लैंडिंग पेज पर जितने भी लिंक होंगें वह एक ही वेबपेज पर Redirect होते हैं.
वेबसाइट पर विजिटर को Convert करना मुश्किल है.लैंडिंग पेज पर Visitor को आसानी से Convert किया जा सकता है.
Landing Page और Website में अंतर

होम पेज और लैंडिंग पेज में अंतर

कई लोग लैंडिंग पेज और होम पेज को एक ही समझ लेते हैं लेकिन ये दोनों भी एक दुसरे से बहुत अलग हैं. होम पेज और लैंडिंग पेज के बीच कुछ मुख्य अंतर निम्नलिखित हैं –

होम पेजलैंडिंग पेज
वेबसाइट का मुख्य पेज होता है.यह सिंगल वेबपेज होता है.
वेबसाइट की इनफार्मेशन होती है.केवल एक ही प्रोडक्ट की इनफार्मेशन होती है.
वेबसाईट का Overview देने के लिए बनाया जाता है.किसी विशेष उद्देश्य के लिए बनाया जाता है.
वेबसाइट का एक ही होम पेज होता है.किसी एक प्रोडक्ट के लिए Multiple लैंडिंग पेज बना सकते हैं.
Landing Page और Home Page में अंतर

लैंडिंग पेज के फायदे (Advantage of Landing Page in Hindi)

लैंडिंग पेज के अनेक सारे फायदे मिलते हैं, इसलिए लैंडिंग पेजों का इस्तेमाल बहुत अधिक मात्रा में किया जाता है. लैंडिंग पेज के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • लैंडिंग पेज में किसी प्रकार का Distraction नहीं होता है, इसलिए इसमें Conversion Rate भी High रहता है.
  • आप लैंडिंग पेज से अपने मार्केटिंग उद्देश्यों को पूरा कर सकते हैं जैसे लीड जनरेट, प्रोडक्ट की बिक्री आदि.
  • लैंडिंग पेज से आप ईमेल लिस्ट बना सकते हैं.
  • आप एफिलिएट मार्केटिंग के लिए लैंडिंग पेज का इस्तेमाल करके अच्छे रिजल्ट प्राप्त कर सकते हैं. अगर आप Direct एफिलिएट लिंक सोशल मीडिया या सर्च इंजन में पेस्ट कर देते हैं तो आपकी लिंक ब्लॉक हो जाती है.
  • लैंडिंग पेज में ROI (Return of Investment) अच्छा मिलता है.
  • वेबसाइट बनाने की तुलना में लैंडिंग पेज बनाना ज्यादा आसान है.
  • आप फ्री में भी लैंडिंग पेज बना सकते हैं.

यह आर्टिकल भी पढ़ें –

निष्कर्ष: Landing Page Kya Hai

आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हमने Landing Page Kya Hai के बारे में पूरी जानकारी आपको दी है, हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख को पढने के बाद आप लैंडिंग पेज को अच्छे से समझ गए होंगें. यदि अभी भी आपके मन में लैंडिंग पेज से सम्बंधित कोई प्रश्न शेष हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं, और अगर इस लेख को आपको कुछ सीखने को मिला है तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

0Shares

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||