Freelancing Kya Hai और Freelancer कैसे बनें?

आज के इस डिजिटल युग में ऑनलाइन पैसे कमाने के अनेक सारे माध्यम है, जिसमें से एक Popular तरीका Freelancing है. Freelancing की मदद से आप 9 – 5 की नौकरी से छुटकारा पा सकते हैं और अपना एक Successful ऑनलाइन बिज़नस शुरू कर सकते हैं. मैं भी पिछले 2 सालों से फ्रीलांसिंग करके भी ऑनलाइन पैसे कमा रहा हूँ तो मैंने सोचा क्यों ना आज आपको Freelancing Kya Hai के बारे में जानकारी दूँ.

इस ब्लॉग पोस्ट में आपको जानने को मिलने वाला है कि फ्रीलांसिंग क्या है, फ्रीलांसर कौन होते हैं, फ्रीलांसर कैसे बनें और फ्रीलांसिंग जॉब कैसे प्राप्त करें. अगर आप भी फ्रीलांसिंग से पैसे कमाना चाहते हैं तो यह ब्लॉग पोस्ट आपके लिए सबसे बेस्ट होगी.

तो चलिए आपका अधिक समय ना लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं Freelancing क्या होता है.

फ्रीलांसिंग क्या है (What is Freelancing in Hindi)

फ्रीलांसिंग एक ऐसी ऑनलाइन जॉब होती है जिसमें एक व्यक्ति अपनी स्किल को बेचकर पैसे कमाता है. जो व्यक्ति अपनी स्किल को बेचता है उसे फ्रीलांसर कहते हैं. फ्रीलांसर किसी व्यक्ति कंपनी या संस्था के लिए काम नहीं करते हैं वे खुद के लिए ऐसे क्लाइंट Find करते हैं जिन्हें उनकी स्किल की आवश्यकता है और फिर उन्हें अपनी सर्विस देकर पैसे कमाते हैं.

उदाहरण के लिए माना आपको कंटेंट राइटिंग आती है तो आप फ्रीलांसिंग वेबसाइटों या सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म से ऐसे क्लाइंट को Find कर सकते हैं जिन्हें कंटेंट राइटर की आवश्यकता है. और फिर आप उनके लिए कंटेंट लिख सकते हैं और काम खत्म होने के बाद आपको पैसे मिल जाते हैं.

फ्रीलांसिंग करने के लिए आपके पास कोई ऐसी स्किल होनी चाहिए जिसकी डिमांड मार्केट में है. ऐसे लोग जिनके पास कोई डिजिटल स्किल (जैसे – वेब डिजाइनिंग, SEO, सोशल मीडिया मार्केटिंग आदि) होती है उन्हें जल्दी क्लाइंट मिल जाते हैं क्योंकि आजकल के समय में सभी लोग और कंपनियां खुद को डिजिटली ग्रो करना चाहती हैं.

फ्रीलांसिंग में टाइम की कोई पाबंदी नहीं होती है आप दिन में किसी भी वक्त अपना काम कर सकते हैं. लेकिन आपको क्लाइंट को तय समय पर काम पूरा करके देना होता है तभी आपके ज्यादा लॉयल क्लाइंट बनेंगे.

Freelancing Meaning in Hindi

Freelancing का हिंदी में मतलब होता है स्वतंत्र. अर्थात एक ऐसा व्यक्ति जो किसी कंपनी या बॉस के अंडर में काम ना करके स्वतंत्र रूप से अपनी स्किल बेचकर पैसे कमाता है वह फ्रीलांसर होता है. इस प्रकार फ्रीलांसिग का शाब्दिक अर्थ स्वतंत्र रूप से कार्य करने वाला व्यक्ति होता है.

फ्रीलांसर कौन होते हैं

जो व्यक्ति फ्रीलांसिंग करता है उसे ही फ्रीलांसर कहते हैं. या जो व्यक्ति ऑनलाइन सर्विस देकर पैसे कमाता है उसे फ्रीलांसर कहते हैं. एक फ्रीलांसर कोई भी व्यक्ति हो सकता है. अगर आपके पास कोई स्किल है तो आप भी फ्रीलांसर बन सकते हैं.

फ्रीलांसिंग जॉब के लिए किन चीजों की आवश्यकता है

जब भी आप फ्रीलांसिंग के बारे में विचार करते हैं तो आपके मन में एक सवाल आता होगा कि फ्रीलांसिंग बनाने के लिए किन – किन चीजों की आवश्यकता होती है. आपको बता दें फ्रीलांसिंग करने के लिए निम्नलिखित चीजों की आवश्यकता होती है.

  • एक स्मार्टफोन या लैपटॉप (लैपटॉप ज्यादा बेहतर है. अगर आपके पास लैपटॉप नहीं है तो शुरुवात में आप स्मार्टफोन से भी काम कर सकते हैं)
  • इन्टरनेट कनेक्शन
  • कोई भी एक फ्रीलान्स स्किल
  • एक ईमेल ID (फ्रीलांसिंग वेबसाइट में अकाउंट बनाने के लिए)
  • बैंक अकाउंट (पैसे Receive करने के लिए).

ये सभी कुछ बुनियादी चीजें हैं जिससे आप फ्रीलांसिंग की Journey Start कर सकते हैं.

एक फ्रीलांसर कैसे बनें?

आर्टिकल को यहाँ तक पढने पर आप समझ गए होंगे कि Freelancing Kya Hai, चलिए अब जानते हैं एक Freelancer कैसे बनें. जैसा कि मैं आपको उपर बता चुका हूँ कोई भी व्यक्ति जिसके पास कुछ भी स्किल है वह फ्रीलांसर बन सकता है और पैसे कमा सकते हैं.

अगर आप बिल्कुल Beginner हैं, और आपको फ्रीलांसिंग का कुछ भी पता नहीं है तो मैंने आपको अपने अनुभवों के आधार पर नीचे कुछ स्टेप बतायें हैं जिन्हें फॉलो करके आप फ्रीलांसर बन सकते हैं.

#1 – एक स्किल सीखें और उसमें Expert बनिये

फ्रीलांसिंग करने की शुरुवात स्किल से ही होती है जिस व्यक्ति के पास कोई स्किल है वही फ्रीलांसर बन सकता है और पैसे कमा सकता है. अगर आपके पास कुछ भी स्किल नहीं है तो आप ऑनलाइन YouTube विडियो देखकर, ब्लॉग पढ़कर या ऑनलाइन कोर्स से स्किल सीख सकते हैं.

शुरुवात में आप एक ही स्किल पर फोकस करें और उसमें एक्सपर्ट बनिये. जब आप अपने स्किल में एक्सपर्ट बन जाते हैं तो आपको अधिक काम मिलने लगता है. फ्रीलांसिंग करने के लिए कुछ बेस्ट स्किल निम्नलिखित हैं.

#2 – फ्रीलांसिंग वेबसाइट में अकाउंट बनाइये

जब आप किसी स्किल को सीख जाते हैं तो इसके बाद आपको अपनी स्किल बेचने के लिए क्लाइंट की आवश्यकता होती है. क्लाइंट ढूंढने का सबसे बढ़िया प्लेटफ़ॉर्म फ्रीलांसिंग वेबसाइट हैं. ये वेबसाइटें क्लाइंट और फ्रीलांसर को मिलाने का कार्य करती है.

फ्रीलांसिंग वेबसाइटों में क्लाइंट और फ्रीलांसर दोनों मौजूद होते हैं. जब किसी क्लाइंट को अपना कोई कार्य करवाने के लिए फ्रीलांसर की आवश्यकता होती है तो वह फ्रीलांसर वेबसाइट पर रजिस्टर करता है और अपने काम से सम्बंधित स्किल वाले फ्रीलांसर को हायर कर लेता है.

आप अपनी Gmail ID से फ्रीलांसिंग वेबसाइटों में अकाउंट बना सकते हैं और अपनी स्किल को पोस्ट कर सकते हैं. फ्रीलांसिंग वेबसाइट में शुरुवात में काम प्राप्त करने में थोडा मुश्किल होता है लेकिन एक बार जब काम मिलना शुरू होता है तो इतना काम मिलता है कि आप खुद ही काम लेने से मना करेंगे.

फ्रीलांसिंग वेबसाइट पर काम प्राप्त करने के लिए आपको उनके इंटरफ़ेस को समझना पड़ेगा, क्योंकि हर एक वेबसाइट का इंटरफ़ेस अलग होता है. कुछ बेस्ट फ्रीलांसिंग वेबसाइट निम्नलिखित है –

  • Fiverr
  • Upwork
  • Freelancer
  • Toptal
  • Peopleperhour

फ्रीलांसिंग वेबसाइट के अतिरक्त आप फेसबुक ग्रुप, LinkdIn, Google व फेसबुक Ads चलाकर भी क्लाइंट प्राप्त कर सकते हैं.

#3 – अपनी प्रोफाइल को ऑप्टिमाइज़ करें

फ्रीलांसिंग वेबसाइट में अकाउंट बनाने से ही क्लाइंट नहीं मिल जाते हैं, क्लाइंट प्राप्त करने के लिए आपको अपनी प्रोफाइल अच्छे प्रकार से ऑप्टिमाइज़ करना होती है. आप निम्नलिखित प्रकार से अपनी प्रोफाइल को ऑप्टिमाइज़ कर सकते हैं.

  • एक प्रोफेशनल प्रोफाइल पिक्चर लगायें.
  • अपने बारे में एक Short Description लिखें.
  • अपने कार्य अनुभव के बारे में लिखें.
  • अपनी सर्विस को अच्छे प्रकार से Explain करें.
  • प्रोफाइल को प्रोफेशनल बनाने के लिए अपनी बेसिक इनफार्मेशन add करें.

अगर आप इन सब बातों का ध्यान रखते हुए अपनी प्रोफाइल को ऑप्टिमाइज़ करते हैं तो आपको अच्छे क्लाइंट मिलते हैं.

#4 – फ्रीलांसिंग वेबसाइट पर एक्टिव रहें

जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया है फ्रीलांसिंग वेबसाइट पर आपको तुरंत काम नहीं मिल जाता है. शुरुवात में काम प्राप्त करने के लिए आपको धैर्य रखना पडेगा और वेबसाइट में एक्टिव रहना पड़ेगा. जब आप एक्टिव रहेंगे तभी फ्रीलांसिंग वेबसाइट आपकी प्रोफाइल को प्रमोट करेंगे और आपको ज्यादा से ज्यादा काम मिलने की संभावना होगी.

#5 – समय पर काम पूरा करें

जब आपको काम मिलने लगता है तो आप समय पर अपना काम पूरा करके डिलीवर करें. फ्रीलांसिंग में जब भी क्लाइंट आपको काम देता है तो साथ में आपको एक फिक्स टाइम भी देता है जिसके अंतर्गत आपको काम पूरा करके देना पड़ता है. अगर आप समय पर काम पूरा करेंगे तभी आपको Loyal Client मिलेंगे जो आगे भी आपको काम देते रहेंगे.

#6 – अच्छा काम करके रेटिंग प्राप्त करें

फ्रीलांसिग वेबसाइट में अधिक क्लाइंट प्राप्त करने के लिए रेटिंग बहुत महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि कोई भी क्लाइंट आपको काम देने से पहले आपके प्रोफाइल की रेटिंग देखता है. अच्छे रेटिंग प्राप्त फ्रीलांसर को अधिक काम मिलता है. इसलिए जब भी आप किसी क्लाइंट का काम पूरा करें तो उसे रेटिंग देने के लिए जरुर कहें.

फ्रीलांसर जॉब क्या होती है?

आज के समय में अनेक प्रकार की फ्रीलांसर जॉब मौजूद हैं. कंपनियों को भी फ्रीलांसर की जरूरत होती है क्योंकि उन्हें Employee की तुलना में फ्रीलांसर सस्ते पड़ते हैं. यहाँ हम आपको कुछ फ्रीलांसर जॉब के बारे में बता रहे हैं.

  • कंटेंट राइटिंग – बहुत सारे ब्लॉगर अपने ब्लॉग में कंटेंट लिखवाने के लिए कंटेंट राइटर फ्रीलांसर को hire करते हैं.
  • वेब डिजाइनिंग – कंपनियों को अपनी बिज़नस वेबसाइट बनवाने के लिए वेब डिज़ाइनर की जरुरत होती है. वेब डिजाइनिंग भी एक High Demand वाली फ्रीलांसर जॉब है.
  • SEO – SEO ऐसे ऐसी प्रोसेस होती है जिसमें ब्लॉग को सर्च इंजन में रैंक करवाना होता है. कोई कंपनी या इंडिविजुअल अपने वेबसाइट पर ऑर्गनिक ट्रैफिक लाने के लिए SEO Expert को Hire करते हैं.
  • पेड विज्ञापन – पेड विज्ञापनों से कंपनियां अपने प्रोडक्ट के बारे में कम समय में अधिक लोगों को बता सकती है. अगर आप गूगल और फेसबुक पर विज्ञापन चलाने आते हैं तो आप कंपनियों के लिए पेड विज्ञापन चला सकते हैं.
  • सोशल मीडिया मैनेजर – अगर आपको सोशल मीडिया की अच्छी नॉलेज है तो आप सोशल मीडिया मैनेजर की सर्विस दे सकते हैं. इसमें आपको कंपनियों के सोशल मीडिया हैंडल को मैनेज करना होता है.
  • कॉपीराइटर – अपने पेड विज्ञापनों से अच्छे कन्वर्शन प्राप्त करने के लिए कंपनियों को कॉपीराइटर की आवश्यकता होती है. आज के समय में कॉपीराइटर एक High paying स्किल है.
  • ग्राफ़िक डिजाइनिंग – अगर आपको ग्राफ़िक डिजाइनिंग आती है तो आप लोगो, बैनर डिजाईन कर सकते हैं.

इन सब के अतिरिक्त भी अनेक प्रकार की फ्रीलांसिंग जॉब हैं, आप अपनी स्किल और योग्यता के अनुसार सर्विस दें, और फ्रीलांसर बनकर घर बैठे पैसे कमायें.

फ्रीलांसिंग के फायदे (Advantage of Freelancing in Hindi)

फ्रीलांसिंग करने के ढेर सारे फायदे हैं जैसे कि –

  • आप अपने खाली समय के अनुसार काम कर सकते हैं, जॉब की तरह इसमें टाइम की कोई पाबंदी नहीं है.
  • आप कभी भी फ्रीलांसिंग को स्टार्ट कर सकते हैं.
  • अन्य ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके जैसे ब्लॉग्गिंग, YouTube, एफिलिएट मार्केटिंग आदि की तुलना में फ्रीलांसिंग ज्यादा आसान है.
  • आप अपने पसंद का काम कर सकते हैं.
  • किसी एक स्किल में आप अपनी पकड़ को मजबूत कर सकते हैं.
  • ऑनलाइन फ्रीलांसिग वेबसाइट की मदद से आपको काम मिल जाता है. आपको क्लाइंट ढूढने के लिए अधिक Effort और पैसा नहीं लगाना पड़ता है.
  • फ्रीलांसिग में आप कहीं से भी काम कर सकते हैं क्योंकि आप किसी ऑफिस में जाने की जरूरत नहीं होती है.
  • आप खुद के बॉस बन सकते हैं और अपनी मर्जी के अनुसार काम कर सकते हैं.
  • आप जॉब से ज्यादा पैसे कमा सकते हैं.

फ्रीलांसिंग के नुकसान (Disadvantage of Freelancing in Hindi)

फ्रीलांसिंग के फायदों के साथ – साथ कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • शुरुवात में आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.
  • अगर आपके काम में कमी रहती है तो आपको loyal client नहीं मिलेंगे.
  • आपको निर्धारित समय के अन्दर काम पूरा करके देना होता है.
  • चूँकि आप अपनी मर्जी के मालिक होते हैं इसलिए आप आलसी भी हो सकते हैं.

यह लेख भी पढ़ें –

निष्कर्ष: Freelancing Kya Hai हिंदी में

अगर आप भी अपनी 9 – 5 की जॉब से परेशान हो गए हैं और अपनी स्किल बेचकर पैसे कमाना चाहते हैं तो फ्रीलांसिंग सबसे बेस्ट काम है. फ्रीलांसिंग से आप अपना एक ऑनलाइन बिज़नस बना सकते हैं और अच्छी कमाई कर सकते हैं. मुझे पूरी उम्मीद है कि इस ब्लॉग पोस्ट Freelancing Kya Hai से आपको फ्रीलांसिंग के बारे में सीखने को मिला होगा. इस जानकारी को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और उन्हें भी फ्रीलांसिंग के बारे में बतायें.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

0Shares

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||