VPS Hosting Kya Hai, कहाँ से खरीदें और इसके फायदे तथा नुकसान

VPS Hosting Kya Hai – अगर आप एक वेब डेवलपर हैं या एक Blogger हैं तो होस्टिंग के बारे में आपने जरुर सुना होगा. होस्टिंग भी अनेक प्रकार की होती है जिन्हें आप अपने वेबसाइट के आवश्यकताओं के अनुसार खरीद सकते हैं. अगर आपके वेबसाइट में High ट्रैफिक है तो VPS होस्टिंग आपके लिए सबसे बेहतर है.

लेकिन कोई भी होस्टिंग खरीदने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिये. अगर आप भी VPS होस्टिंग की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो एकदम सही लेख पर आये हैं.

आज की इस पोस्ट के द्वारा आपको जानने को मिलेगा कि VPS Hosting क्या है, यह काम कैसे करती है, VPS होस्टिंग के फायदे और नुकसान क्या हैं तथा किफायती दामों में VPS Hosting कहाँ से खरीदें.

तो चलिए दोस्तों आपका अधिक समय ना लेते हुए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं VPS Hosting के बारे में विस्तार से.

VPS Full Form in Hindi

VPS होस्टिंग के बारे में जानने से पहले VPS का फुल फॉर्म पता होना आवश्यक है. VPS का फुल फॉर्म होता है Virtual Private Server जिसे कि हिंदी में आभासी प्राइवेट सर्वर कहते हैं. इसका शाब्दिक अर्थ हुआ, एक ऐसा सर्वर जो वास्तव में है ही नहीं.

VPS होस्टिंग क्या है (What is VPS Hosting in Hindi)

VPS होस्टिंग एक ऐसी होस्टिंग होती है जिसमें एक Physical Server को कई अलग – अलग भागों में बाँट दिया जाता है और ये सभी भाग एक सर्वर की तरह काम करने लगते हैं, भौतिक सर्वर के यह भाग ही Virtual Server कहलाते हैं. इसमें हर एक वेबसाइट को Physical Server का एक पूरा भाग दे दिया जाता है.

जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट है यह एक आभासी प्राइवेट सर्वर है जो कि वास्तविक में या भौतिक रूप से उपलब्ध नहीं है. यानि मुख्य सर्वर तो एक ही है लेकिन उसे Virtualization टेक्नोलॉजी के द्वारा कई Virtual भागों में बाँट दिया गया है.

एक आसान उदाहरण के द्वारा इसे समझते हैं,

मॉल तो आप सभी लोग गए होंगे, जिसके अन्दर अनेक सारी दुकानें होती हैं. मॉल में होता यह है कि इसके अन्दर दुकानों के लिए अनेक सारे कमरे बना दिए जाते हैं. और जब कोई दुकानदार मॉल में अपनी दुकान खोलना चाहता है तो उसे एक कमरा दे दिया जाता है जो कि केवल उसी का होता है. उसके अलावा अन्य कोई दुकानदार उस कमरे का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं.

यानि पूरा मॉल उस दुकानदार का नहीं है लेकिन मॉल के अन्दर एक दुकान या कहें तो फिक्स जगह उसकी है, जिसके सारे Resource का इस्तेमाल वह स्वयं करता है. ठीक इसी प्रकार आप VPS होस्टिंग को भी समझ सकते हैं.

  • मॉल – Physical Server
  • कमरे – Virtual Server
  • दूकान – वेबसाइट
  • दुकानदार – वेबसाइट का मालिक

VPS होस्टिंग में सर्वर तो एक ही होता है, लेकिन उसे कई अलग – अलग हिस्सों में बाँट दिया. और प्रत्येक वेबसाइट ओनर को एक फिक्स हिस्सा दे दिया जाता है जिसका इस्तेमाल सिर्फ वही कर सकता है. Shared Hosting के विपरीत VPS होस्टिंग के Server में होस्ट कोई वेबसाइट किसी दुसरे वेबसाइट के Resources का इस्तेमाल नहीं कर सकती हैं.

VPS Hosting का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

Dedicated Hosting की Cost को कम करने के लिए VPS होस्टिंग का इस्तेमाल किया जाता है. Dedicated Hosting में मिलने वाले Resource का पूरा इस्तेमाल एक सामान्य ट्रैफिक वाली वेबसाइट नहीं कर पाती है, इसलिए होस्टिंग प्रदाताओं ने VPS होस्टिंग का Concept निकाला.

इसमें पूरे सर्वर की Cost बंट जाती है, जिससे सभी वेबसाइट ओनर को किफायती दामों में एक वर्चुअल प्राइवेट सर्वर मिल जाता है.

इसे ऊपर मॉल के उदाहरण से समझते हैं, एक व्यक्ति अगर एक दूकान लगाने के लिए पूरा मॉल खरीदेगा तो उसे बहुत महंगा पड़ेगा, और उसके पास दूकान की सामग्री भी इतनी अधिक नहीं है कि वह पूरा मॉल का इस्तेमाल कर पायेगा. इसलिए वह मॉल में एक कमरा खरीदता है जो कि उसे कम दामों में मिल जाता है, और उसकी पूरी सामग्री भी एक कमरे में आ जाती है.

VPS होस्टिंग डेडिकेटेड होस्टिंग की तुलना में सस्ती और शेयर्ड होस्टिंग की तुलना में महँगी होती है. VPS होस्टिंग Scalable होती है आप अपने वेबसाइट की जरूरतों के हिसाब से संसाधनों को बढ़ा – घटा सकते हैं.

यहाँ तक पढने पर आप समझ गए होंगे कि VPS Hosting Kya Hai, चलिए अब जानते हैं यह काम कैसे करती है.

VPS Hosting काम कैसे करती है

एक Physical Server जिसे कि Virtualization टेक्नोलॉजी के द्वारा कई वर्चुअल सर्वर में बांटा जाता है. और हर एक वर्चुअल सर्वर एक सर्वर की तरह काम करने लगता है. जब कोई यूजर होस्टिंग प्रदाता कंपनी से VPS होस्टिंग खरीदता है तो उसे Physical Server के कई हिस्सों में से एक हिस्सा दे दिया जाता है, जिसके संसाधनों का इस्तेमाल सिर्फ वही कर सकता है.

VPS होस्टिंग के काम करने का तरीका भी बाकी सभी होस्टिंग की तरह ही होता है, जब कोई यूजर हमारी वेबसाइट का एड्रेस ब्राउज़र में सर्च करता है तो हमारा सर्वर उसकी Request को लेता है और वेबसाइट का कंटेंट उसके सामने वेब ब्राउज़र में दिखाता है.

VPS होस्टिंग किसके लिए सही है

एक High Traffic वाली वेबसाइट जिसे होस्टिंग पर खुद का कंट्रोल चाहिये उसके लिए VPS होस्टिंग बेहतर है, क्योंकि इसमें शेयर्ड होस्टिंग की तुलना में बहुत अधिक Resource मिलते हैं जो कि वेबसाइट की Performance को बेहतर बनाते हैं. साथ में ही यह होस्टिंग Dedicated से सस्ती भी है.

अगर आपकी वेबसाइट को शेयर्ड होस्टिंग से अधिक तथा Dedicated होस्टिंग से कम संसाधनों की जरुरत है तो आपके लिए VPS होस्टिंग एक अच्छा विकल्प है.

Managed और Unmanaged VPS होस्टिंग में अंतर

आजकल Managed VPS होस्टिंग भी बहुत चर्चा में है इसलिए VPS होस्टिंग खरीदने से पहले इन दोनों के बीच में अंतर पता होना भी आवश्यक है. हमने नीचे टेबल के द्वारा दोनों के बीच अंतर को स्पष्ट किया है.

Unmanaged VPS Hosting Managed VPS Hosting
Unmanaged VPS होस्टिंग में पूरे सर्वर को यूजर को ही मैनेज करना होता है. Managed VPS होस्टिंग में होस्टिंग प्रदाता यूजर के लिए होस्टिंग को मैनेज करती है.
Unmanaged VPS होस्टिंग में यूजर को root access प्रदान किया जाता है. Managed VPS होस्टिंग यूजर को root access मिल भी सकता है और नहीं भी.
Unmanaged VPS होस्टिंग में की कीमत Managed से कम होती है. Managed VPS होस्टिंग महंगी होती है.
यूजर को होस्टिंग मैनेज करने के लिए गहरी टेक्निकल नॉलेज होनी चाहिए. यूजर को होस्टिंग मैनेज करने के लिए अधिक टेक्निकल नॉलेज की जरुरत नहीं होती है.

VPS Hosting के फायदे

VPS होस्टिंग के अनेक सारे फायदे होते हैं जिसके बारे में हमने नीचे आपको बताया है.

  1. VPS होस्टिंग Flexible है, आप अपने वेबसाइट की जरूरतों के अनुसार संसाधनों (स्टोरेज, बैंडविड्थ आदि) को बढ़ा या घटा सकते हैं.
  2. Dedicated होस्टिंग की तुलना में VPS होस्टिंग सस्ती होती है.
  3. Shared होस्टिंग की तुलना में VPS होस्टिंग में यूजर के पास होस्टिंग पर अधिक नियंत्रण होता है.
  4. VPS होस्टिंग में यूजर को root access मिलता है, मतलब कि सर्वर पर पूरा कण्ट्रोल मिलता है.
  5. चूँकि एक सर्वर में केवल एक यूजर को वेबसाइट को होस्ट किया जाता है, इसलिए अन्य वेबसाइटों से Malware आने का ख़तरा नहीं रहता है.
  6. VPS होस्टिंग वेबसाइट की Performance को बढ़ाती है.
  7. अधिक ट्रैफिक हैंडल करने में VPS होस्टिंग सक्षम है.
  8. पूरा सर्वर में यूजर का कंट्रोल होने के कारण यूजर अपनी मनपसंद के अनुसार सॉफ्टवेर या ऑपरेटिंग सिस्टम को इनस्टॉल कर सकता है.
  9. VPS होस्टिंग में यूजर को एक पूरा वर्चुअल सर्वर दिया जाता है जिसका इस्तेमाल वह स्वयं करता है. इससे प्राइवेसी बनी रहती है.

VPS Hosting के नुकसान

ये तो हो गए VPS होस्टिंग के फायदे, चलिए इसके नुकसानों के बारे में भी एक नजर डाल लेते हैं.

  1. Shared होस्टिंग की तुलना में VPS होस्टिंग महँगी होती है.
  2. VPS होस्टिंग का इस्तेमाल करने के लिए तकनीकि नॉलेज होना आवश्यक है नहीं तो आपको बहुत Problem आ सकती है.
  3. VPS होस्टिंग में आपको Physical Server नहीं मिलता है, बल्कि Physical Server का एक भाग आपको दिया जाता है.

VPS होस्टिंग कहाँ से खरीदें (VPS Hosting Provider in India)

मार्केट में अनेक सारी कंपनियां हैं जो VPS होस्टिंग प्रदान करवाती है, नीचे हमने आपको कुछ Best VPS Hosting Provider in India के बारे में बताया है, जहाँ से आप बेझिझक VPS होस्टिंग खरीद सकते हैं.

1 – Bluehost

Bluehost दुनियाभर में एक लोकप्रिय होस्टिंग प्रदाता है, जो अपनी बेहतरीन होस्टिंग सेवाओं के लिए जाना जाता है. आप Bluehost से Shared और Dedicated के अलावा VPS होस्टिंग भी खरीद सकते हैं. Bluehost अपने VPS होस्टिंग के सबसे बेसिक प्लान में निम्नलिखित Feature प्रदान करवाता है.

  • Unlimited Website
  • 2 Core
  • 30 GB SSD Storage
  • 2 GB RAM
  • 1 TB Bandwidth
  • 1 IP Address
  • Free Domain 1 साल के लिए
  • Free Microsoft Email 30 दिनों के लिए और भी बहुत कुछ.

आप ऊपर बटन पर क्लिक करके Bluehost की वेबसाइट पर जाइये और सबसे ऊपर Hosting वाले Option में VPS होस्टिंग को सेलेक्ट कीजिये, और फिर आप Bluehost से VPS होस्टिंग खरीद सकते हैं.

2 – Hostinger

अगर आप किफायती दाम पर VPS होस्टिंग की सेवा का लाभ उठाना चाहते हैं तो Hostinger आपके लिए एक अच्छा विकल्प है. Hostinger के पास 8 अलग – अलग प्लान VPS होस्टिंग के लिए हैं जो कि मात्र 285 रूपये प्रतिमाह से शुरू हो जाते हैं. Hostinger के सबसे बेसिक VPS प्लान में निम्नलिखित Feature हैं.

  • Unlimited Website
  • 1 Core
  • 1 GB RAM
  • 20 GB SSD Storage
  • 1 TB Bandwidth
  • Full Root Access
  • Dedicated IP और भी बहुत कुछ

आप ऊपर बटन के द्वारा Hostinger की वेबसाइट पर जा सकते हैं, और फिर Hosting वाले Option में VPS होस्टिंग के सेलेक्ट करें. फिर सभी प्लान को Check करने के बाद अपने लिए Best VPS होस्टिंग खरीद सकते हैं.

3 – Host Gator

Host Gator कंपनी Managed VPS की सुविधा प्रदान करवाती है, जिसमें आप मामूली टेक्निकल नॉलेज से भी VPS होस्टिंग की सेवा का लाभ उठा सकते हैं. क्योंकि इसमें आपके सर्वर को मैनेज खुद Host Gator कंपनी करेगी. अगर आप Managed VPS लेते हैं तो इसके लिए आपको अधिक Pay करना होगा.

Host Gator के पास 4 अलग – अलग VPS होस्टिंग प्लान है, इसके VPS होस्टिंग के सबसे शुरुवात प्लान में आपको निम्नलिखित Feature मिलते हैं.

  • Unlimited Website
  • 2 Core CPU
  • 2 GB RAM
  • 20 GB SSD
  • 1 TB Bandwidth
  • Free Website Migration और भी बहुत कुछ.

जब आप Host Gator होस्टिंग की ऑफिसियल वेबसाइट को विजिट करेंगे तो आपको VPS होस्टिंग का एक अलग से सेक्शन मिल जायेगा, आप अपने अनुसार Managed और Unmanaged VPS होस्टिंग खरीद सकते हैं.

4 – MilesWeb

MilesWeb भारत में एक लोकप्रिय होस्टिंग प्रदाता कंपनी है जो काफी किफायती दामों पर होस्टिंग की सुविधा प्रदान करवाती है. MilesWeb के पास लगभग हर प्रकार की होस्टिंग उपलब्ध है. यह कंपनी भी Managed VPS होस्टिंग की सेवा प्रदान करवाती है.

MilesWeb के पास VPS होस्टिंग के लिए 6 अलग – अलग प्लान हैं, आप अपनी आवश्यकता अनुसार किसी भी प्लान को सेलेक्ट कर सकते हैं. इसके सबसे बेसिक Unmanaged प्लान में आपको निम्नलिखित Feature मिलते हैं.

  • Unlimited Website Host
  • 2 CPU
  • 2 GB RAM
  • 50 GB SSD Disk
  • 5000 GB Bandwidth
  • Dedicated IP और भी बहुत कुछ.

जब आप MilesWeb की ऑफिसियल वेबसाइट पर आयेंगे तो आपको VPS होस्टिंग का एक अलग सेक्शन मिल जायेगा, यहाँ से आप Managed तथा Unmanaged Linux और Window VPS होस्टिंग खरीद सकते हैं.

FAQ: VPS Hosting Kya Hai

Q – VPS का फुल फॉर्म क्या है?

VPS का फुल फॉर्म Virtual Private Server क्या है, जिसे हिंदी में आभासी प्राइवेट सर्वर कहते हैं.

Q – VPS होस्टिंग किसके लिए अच्छी है?

ऐसी वेबसाइट जिनके पास अच्छा ट्रैफिक है और उन्हें शेयर्ड होस्टिंग से अधिक और डेडिकेटेड होस्टिंग से कम संसाधनों की आवश्यकता है.

Q – VPS होस्टिंग कितने की आती है?

अलग – अलग कंपनियों के दाम भी भिन्न होते हैं, आप होस्टिंग प्रदाताओं की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर VPS होस्टिंग की कीमत Check कर सकते हैं.

Q – क्या बिना टेक्निकल नॉलेज के VPS होस्टिंग का उपयोग कर सकते हैं?

जी बिल्कुल, आप Managed VPS होस्टिंग खरीदकर बिना टेक्निकल नॉलेज के भी VPS होस्टिंग का उपयोग कर सकते हैं.

यह लेख भी पढ़ें –

अंतिम शब्द: VPS Hosting Meaning in Hindi

अगर आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक अच्छा है, और आप खुद के कंट्रोल वाले एक होस्टिंग की चाहते हैं तो VPS होस्टिंग आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प है. आप किफायती दामों पर Dedicated होस्टिंग की तरह आनंद ले सकते हैं.

तो इस लेख में इतना ही, हमें पूरी उम्मीद है इस लेख को पढने के बाद आप VPS Hosting Kya Hai के बारे में अच्छे से समझ गए होंगे, यदि अभी भी आपने मन में VPS होस्टिंग से जुड़े प्रशन हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं. अंत में आपसे निवेदन करेंगे कि इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

0Shares

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||