Audience Kya Hai और Audience कैसे बनायें [Detail Information]

डिजिटल मार्केटिंग में एक Audience शब्द बहुत कॉमन है, आप किसी भी डिजिटल मार्केटिंग ब्लॉग को पढ़ लो या विडियो देख लो, आपको यह शब्द कहीं ना कहीं मिल ही जायेगा. लेकिन एक Beginner डिजिटल मार्केटर जिसने अभी ही डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में कदम रखें हैं उसे पता नहीं होता है कि Audience Kya Hai, ऑडियंस कितने प्रकार की होती है और Audience कैसे बनायें.

अगर आपको भी ऑडियंस के बारे में जानकारी नहीं है और आप जानना चाहते हैं कि ऑडियंस का मतलब क्या होता है तो आप एकदम सही ब्लॉग पर आये हैं. क्योंकि आज के इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से हम आपको ऑडियंस के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाले हैं.

तो बने रहिये दोस्तों इस लेख के अंत तक, हम शुरू करते हैं आज का यह आर्टिकल.

ऑडियंस का मतलब क्या होता है (Audience Meaning in Hindi)

Audience का हिंदी में मतलब श्रोता होता है यानि किसी भाषण को सुनने वाला. अगर डिजिटल भाषा में कहें तो ऑडियंस का मतलब किसी भी Form (विडियो, ऑडियो, टेक्स्ट या इमेज) में Content को Consume करने वाले व्यक्तियों का समूह. ऑडियंस शब्द का इस्तेमाल व्यक्तियों के समूह के लिए किया जाता है.

ऑडियंस क्या है (What is Audience in Hindi)

ऑडियंस ऐसे लोगों के समूह को कहा जाता है जो नियमित रूप से किसी Creator के द्वारा कही गयी बातों को सुनते हैं, उनके द्वारा लिखे गए आर्टिकल को पढ़ते हैं और उनके कंटेंट में Interest रखते हैं. जैसे आप किसी YouTuber की विडियो देखते हैं या किसी ब्लॉग को पढ़ते हैं तो आप उनके ऑडियंस में आते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग में हम ऐसे लोगों को ऑडियंस में नहीं गिनते हैं जिन्होंने एक बार आपका आर्टिकल पढ़ा या आपकी विडियो देखी लेकिन उसके बाद दुबारा कभी उन्होंने ना तो आपके ब्लॉग पढ़ें और ना ही आपकी विडियो देखी. ऑडियंस के अंतर्गत वही लोग आते हैं जिन्हें आपका कंटेंट पसंद आता है और वे नियमित रूप से आपका ब्लॉग पढ़ते हैं या विडियो देखते हैं.

आसान शब्दों में डिजिटल मार्केटिंग में ऑडियंस को परिभाषित करें तो ऐसे लोगों का समूह जिन्हें आपके द्वारा Publish किये जाने वाले कंटेंट में Interest है वह आपकी ऑडियंस है.

ऑडियंस के प्रकार (Type of Audience in Hindi)

ऑडियंस कई प्रकार की होती है, लेकिन सभी प्रकार के ऑडियंस को हम मुख्य रूप से दो भागों में बाँट सकते हैं.

  • Custom Audience
  • Niche Audience

चलिए अब इन दोनों को एक – एक समझते हैं.

#1 – Custom Audience

Custom Audience को Targeted Audience भी कहते हैं. यह ऐसी ऑडियंस होती है जिसे पहले से ही तय कर लिया जाता है. यहाँ पर कोई कंपनी या व्यक्ति पहले से ही अपने प्रोडक्ट के लिए एक ऑडियंस को निर्धारित कर लेती है जैसे उनकी उम्र, Gender, लोकेशन, इंटरेस्ट आदि, और फिर उस ऑडियंस तक पहुँचने के लिए कंटेंट पब्लिश करती है.

कस्टम ऑडियंस का इस्तेमाल अधिकतर बिज़नस या सर्विस प्रदाता करते हैं. उदाहरण के लिए माना कोई कंपनी किसी एक एरिया में लेडिस प्रोडक्ट Sell करती है. तो उस कंपनी के ऑडियंस उस एरिया में एक निश्चित आयु की महिलायें होंगीं.

#2 – Niche Audience

Niche Audience, Custom Audience से बिल्कुल भिन्न होती है. इस प्रकार की ऑडियंस को पहले से ही निर्धारित नहीं किया जाता है. Niche Audience बनाने के लिए कोई क्रिएटर या व्यक्ति किसी भी डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर नियमित रूप से एक Niche से Related कंटेंट पब्लिश करता है, और उस Niche में interest रखने वाले लोग उससे जुड़ते जाते हैं.

उदाहरण के लिए कोई क्रिएटर डिजिटल मार्केटिंग पर कंटेंट पब्लिश करता है, तो इसमें ऐसा निश्चित नहीं है कि किसी एक वर्ग के आयु के लोगों, या किसी एक Gender या फिर किसी एक निश्चित एरिया के लोगों को Target किया जाता है. डिजिटल मार्केटिंग की जरुरत हर किसी को हो सकती है, इसलिए डिजिटल मार्केटिंग में रूचि रखने वाले लोग उससे जुड़ते जायेंगे.

ऑडियंस कैसे बनायें (How to Create Audience)

लेख को यहाँ तक पढने पर आप समझ गए होंगे कि Audience Kya Hai, चलिए अब जानते हैं आखिर ऑडियंस को कैसे बनाया जाता है.

अगर आप डिजिटल मार्केटिंग में Success होना चाहते हैं, या डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा अपने बिज़नस को Next Level तक ले जाना चाहते हैं तो आपको ऑडियंस बनानी ही पड़ेगी. आज हमारे पास इतने सारे platform मौजूद हैं कि हम कहीं भी अपनी ऑडियंस बना सकते हैं. ऑडियंस बनाने की बेसिक प्रोसेस हमने यहाँ आपको बताई है.

#1 – अपनी निच चुनें (Select Your Niche)

ऑडियंस बनाने के लिए सबसे पहले आपको अपनी Niche सेलेक्ट करनी होती है. Niche, Basically एक केटेगरी होती है जिसके Around आप कंटेंट बनाते हैं. आपको Niche हमेशा अपने Interest, नॉलेज और बिज़नस को ध्यान में रखकर सेलेक्ट करना चाहिए.

उदाहरण के तौर पर माना आपको विभिन्न व्यंजनों की रेसिपी बनाना पसंद है तो आप रेसिपी Niche पर कंटेंट पब्लिश कर सकते हैं. इसी प्रकार अगर आपकी डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी है तो आप डिजिटल मार्केटिंग पर कंटेंट Publish कर सकते हैं सकते हैं. डिजिटल मार्केटिंग में सफलता प्राप्त करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण Niche को सेलेक्ट करना होता है.

#2 – प्लेटफ़ॉर्म सेलेक्ट करें (Select Platform)

Niche को सेलेक्ट करने के बाद आपको एक प्लेटफ़ॉर्म सेलेक्ट करना है जहाँ पर आप कंटेंट पब्लिश करेंगे. आप ब्लॉग, YouTube, सोशल मीडिया हैंडल आदि पर कंटेंट पब्लिश कर सकते हैं.

प्लेटफ़ॉर्म सेलेक्ट करने के लिए आपको रिसर्च करनी होगी कि आपके Niche में Interest रखने वाले लोग किस प्लेटफ़ॉर्म में ज्यादा एक्टिव होंगे. आप एक से ज्यादा प्लेटफ़ॉर्म भी सेलेक्ट कर सकते हैं.

अभी के समय में ऑडियंस बनाने के लिए कुछ लोकप्रिय प्लेटफ़ॉर्म निम्नलिखित हैं –

  • WordPress पर ब्लॉग बनाकर कंटेंट पब्लिश कर सकते हैं.
  • YouTube चैनल बना सकते हैं.
  • फेसबुक पेज, Pinterest पेज, इन्स्टाग्राम अकाउंट, Linkdin और Twitter अकाउंट.

#3 – अकाउंट सेटअप करें (Setup Professional Account)

प्लेटफ़ॉर्म को सेटअप करने के बाद आपको एक प्रोफेशनल अकाउंट सेटअप करना है, अगर आपक अकाउंट प्रोफेशनल होगा तो अधिक से अधिक लोग आपसे जुड़ते जायेंगे. क्योंकि अधिकतर लोग किसी प्रोफाइल को देखने से ही उसके काम का अंदाजा लगा लेते हैं.

आप अपने अकाउंट को इस प्रकार से ऑप्टिमाइज़ करें कि लोगों को भी लगना चाहिए कि आप इस विषय में एक्सपर्ट हैं और आपसे उन्हें कुछ ना कुछ सीखने को मिलेगा.

#4 – कंटेंट पब्लिश करें (Publish Content)

यह सब Setup करने के बाद आप नियमित रूप से कंटेंट पब्लिश करते रहें, क्योंकि बिना कंटेंट के ऑडियंस बनाना असंभव है. आपके पास कुछ ना कुछ ऐसा होना चाहिए जिससे लोग आपसे जुड़ेंगे.

कई क्रिएटर अपने मन मुताबिक़ कंटेंट पब्लिश करते हैं, उनके पास कंटेंट पब्लिश करने से पहले कोई भी Strategy नहीं होती है. आपको इस प्रकार की गलतियों से बचना चाहिए, आप एक Schedule निर्धारित कर लें कि आपको कब – कब कंटेंट पब्लिश करना है, और कब कौन सा कंटेंट पब्लिश करना है. कहने का मतलब है कि कंटेंट पब्लिश करने के लिए एक सही रणनीति बनायें.

आप कंटेंट पब्लिश करने का एक निश्चित समय रख सकते हैं, ऐसे में आपके ऑडियंस को आपके कंटेंट पब्लिश करने का इन्तजार रहेगा, और वे आपका कंटेंट Consume करने के लिए समय निकालेंगे.

#5 – सही जानकारी दें (Give Right Information)

हमेशा सही इनफार्मेशन लोगों तक पहुंचायें इससे लोगों का आप पर भरोसा बनेगा और वे आपके Content में Interest लेने लगेंगे. अगर आप गलत इनफार्मेशन देंते हैं तो फिर आप ऑडियंस बनाने के बारे में भूल ही जायें. क्योंकि कोई भी यूजर गलत इनफार्मेशन को Consume करना पसंद नहीं करता है.

#6 – अपने ऑडियंस को समझें (Understand Your Audience)

अगर आप चाहते हैं कि जो आपके ऑडियंस हैं वह आपके ऑडियंस बने रहे तो इसके लिए आपको अपनी ऑडियंस को समझना होगा. आप Check करें कि आपके ऑडियंस को किस प्रकार के कंटेंट पसंद आते हैं, आपके किस कंटेंट में वे अधिक Engage होते हैं, और फिर इन सब बातों को ध्यान में रखकर अपने अगले कंटेंट की तैयारी करें.

#7 – ऑडियंस को सहयोग करें (Support Your Audience)

अपने ऑडियंस का सहयोग करें, वे आपसे कमेंट में जो भी प्रश्न पूछते हैं उनका जवाब दें. अगर वे किसी Particular विषय पर कंटेंट की मांग करते हैं तो उन्हें कंटेंट बनाकर दें. अगर आप अपने ऑडियंस को सहयोग करेंगे तो वह अपनी किसी भी Query को लेकर आपके पास ही आयेंगे. इससे ऑडियंस और आपके बीच में अच्छा Relation स्थापित होता है.

तो इस प्रकार से आप Loyal Audience बना सकते हैं, और फिर आप अपने प्रोडक्ट या सर्विस बेचकर अपने ऑडियंस के जरिये पैसे कमा सकते हैं. एक Loyal Audience Base बनाने के लिए आपको 6 महीने से 1 साल का समय लग सकता है लेकिन इसका आपको आगे चलकर बहुत फायदा मिलेगा.

इन्हें भी पढ़ें –

निष्कर्ष: Audience Kya Hai हिंदी में

दोस्तों, इस आर्टिकल को पढने के बाद आप लोग समझ गए होंगे कि Audience Kya Hai, ऑडियंस कितने प्रकार की होती है और ऑडियंस कैसे बनायें. साथ ही, इस आर्टिकल में हमने आपको ऑडियंस बनाने की प्रोसेस स्टेप वाइज बताई है. आप भी इसी प्रोसेस के द्वारा अपनी ऑडियंस बना सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं.

उम्मीद करते हैं यह ब्लॉग पोस्ट ऑडियंस का मतलब क्या होता है जरुर पसंद आया होगा, यह लेख आप अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें. इस लेख में इतना ही, जल्दी मिलते हैं एक नए लेख में तब तक आप पढ़ते रहिये Hindi Tech DR ब्लॉग को.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

0Shares

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||