Silo Structure Kya Hai और इसे वेबसाइट के लिए कैसे बनायें

क्या आप जानना चाहते हैं Silo Structure Kya Hai और अपने ब्लॉग के लिए Silo Structure कैसे बनायें. यदि हाँ तो आज के इस लेख में मैंने आपको Silo Structure के बारे में बहुत ही आसान शब्दों में बताया है.

Silo Structure वेबसाइट की रैंकिंग के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, यह न केवल रैंकिंग में मदद करता है बल्कि वेबसाइट को सुव्यवस्थित भी बनाता है और यूजर के अनुभव को बेहतर करता है. Silo Structure के बारे में जानने के लिए इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें.

Silo Structure क्या होता है

Silo Structure किसी वेबसाइट का एक ऐसा Structure होता है जिसमें एक वेबपेज के अन्दर ब्लॉग के कई सारे वेबपेज व्यवस्थित तरीके से लिंक होते हैं. Silo Structure ब्लॉग की बेहतर तरीके Crawling, indexing और रैंकिंग के लिए फायदेमंद होता है.

सभी ब्लॉग में अनेक सारे केटेगरी होती है और उनमें आर्टिकल भी अनेक सारे होते हैं. किसी भी आर्टिकल लिखने का मुख्य उद्देश्य होता है कि उसे सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर रैंक करवाना, और ट्रैफिक Generate करना.

वेबसाइट की रैंकिंग में Backlink महत्वपूर्ण Factor होता है. चूँकि ब्लॉग में अनेक सारे आर्टिकल होते हैं तो सभी आर्टिकल के लिए Backlink बनाना मुश्किल भी है. ऐसी स्थिति में आप एक पिलर पोस्ट लिखकर उसमें अनेक सारे पोस्ट को लिंक कर सकते हैं.

जब आप अपने पिलर पोस्ट के लिए बैकलिंक बनाते हैं तो Link Juice पिलर पोस्ट से लिंक अन्य पोस्ट में भी पास होता है. जिससे ब्लॉग के अन्य आर्टिकल भी रैंक करने लगते हैं.

आप अपने ब्लॉग के Homepage को Silo Structure बना सकते हैं. क्योंकि जैसे – जैसे आपका ब्लॉग Grow होता है तो अधिकतर बैकलिंक आपके Home Page को मिलते हैं, इसलिए आप अपने Homepage से अन्य ब्लॉग पोस्ट को लिंक करके वेबसाइट का अच्छा Silo Structure बना सकते हैं.

कुल मिलाकर देखें तो वेबसाइट का Silo Structure इंटरनल लिंकिंग की एक Strategy है.

Silo Structure का उदाहरण

Silo Structure को अच्छे से समझने के लिए एक उदाहरण का इस्तेमाल करते हैं –

माना आप अपनी वेबसाइट में कंप्यूटर से Related Content लिखते हैं. कंटेंट को लिखने के लिए आप दो केटेगरी का इस्तेमाल करते हैं कंप्यूटर हार्डवेयर, और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर.

कंप्यूटर हार्डवेयर वाली केटेगरी में आपने कीबोर्ड, माउस, प्रिंटर, मॉनिटर पर आर्टिकल लिखे हैं, और सॉफ्टवेर वाली केटेगरी में ऑपरेटिंग सिस्टम, सिस्टम सॉफ्टवेर, ड्राईवर, एप्लीकेशन सॉफ्टवेर के बारे में लिखा है.

अब आप निम्न प्रकार से अपनी वेबसाइट के लिए Silo Structure बना सकते हैं .

image 1

यहाँ कंप्यूटर आपका होमपेज है, और होमपेज से आपके सभी पोस्ट लिंक हैं. जब आपके कंप्यूटर वाले पेज यानि कि होमपेज को बैकलिंक मिलेगा तो आपके अन्य पेजों में भी लिंक जूस पास होगा और आपके आर्टिकल की रैंकिंग की संभावना बढ़ जायेगी.

इसी प्रकार अगर आपके ब्लॉग में अन्य केटेगरी भी हैं तो आप सभी के लिए एक अलग Silo Structure बना सकते हैं.

Silo Structure Link Quality

Silo Structure में Link Quality को समझना भी जरुरी है. जब ऊपर वाला पेज (कंप्यूटर) अपने से नीचे वाले पेज (हार्डवेयर और सॉफ्टवेर) को लिंक देगा तो इस प्रकार के लिंक की Quality सबसे अच्छी होती है.

जब नीचे वाले पेज (हार्डवेयर और सॉफ्टवेर) अपने से ऊपर वाले पेज (कंप्यूटर) को लिंक देते हैं तो लिंक की Quality कम होती है. चूँकि होमपेज पर अधिक लिंक मिलते हैं, इसलिए होमपेज से अन्य पेज को लिंक करने पर सभी पेज में लिंक जूस पास होता है.

Silo Structure की परिभाषा

Silo Structure को हम इस प्रकार से परिभाषित कर सकते हैं ” किसी वेबसाइट का Silo Structure एक ऐसा Structure होता है, जहाँ पर एक वेबपेज से अनेक सारे वेबपेज लिंक रहते हैं. “

Silo Structure कैसे बनायें

दोस्तों अभी तक आप लोग समझ गए होंगे कि Silo Structure Kya Hai, अब जानते हैं आप कैसे अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए Silo Structure बना सकते हैं.

वेबसाइट के लिए Silo Structure बनाना काफी आसान है, आप नीचे बताये गए तरीकों से अपने वेबसाइट के लिए Silo Structure बना सकते हैं.

  • पोस्ट को केटेगरी वाइज लिखें.
  • एक ही केटेगरी में अनेक सारे Quality Content लिखें.
  • वेबसाइट का Structure व्यवस्थित तरीके से बनायें.
  • Internal Linking सही तरीके से करें.

बस इन कुछ स्टेप को फॉलो करके आप अपनी वेबसाइट के लिए Silo Structure बना सकते हैं.

Silo Structure के फायदे

वेबसाइट के Silo Structure बनाने के अनेक सारे फायदे होते हैं जैसे कि –

  • Silo Structure लिंक जूस को अलग – अलग पेज में Distribute करता है.
  • यूजर को एक ही केटेगरी के ढेर सारे कंटेंट ब्लॉग पर मिल जाते हैं. जिससे यूजर ब्लॉग पर अनेक वेबपेज को Visit करता है, इससे वेबसाइट का Bounce Rate भी कम होता है.
  • Silo Structure से वेबसाइट की Crawling और Indexing भी बेहतर होती है.
  • वेबसाइट को रैंक करवाने में भी Silo Structure मदद करता है.
  • Silo Structure वेबसाइट को सुव्यवस्थित बनाता है.
  • एक ही विषय पर ढेर सारे Quality Article होने के कारण सर्च इंजन और यूजर आपको Expert के रूप में देखते हैं.

Silo Structure से सम्बंधित सामान्य प्रशन

Q – साइलो स्ट्रक्चर क्या होता है?

किसी वेबसाइट का ऐसा Structure जिसमें एक पेज से अनेक सारे अन्य पेज जुड़े रहते हैं उसे Silo Structure कहते हैं.

Q – क्या ब्लॉग के लिए साइलो स्ट्रक्चर बना सकते हैं?

जी हाँ आप अपने ब्लॉग के लिए साइलो स्ट्रक्चर बना सकते हैं.

Q – क्या Blogger पर भी साइलो बना सकते हैं?

जी हाँ, आप अपने Blogger पर बनी वेबसाइट के लिए भी एक अच्छी Planning के तहत साइलो स्ट्रक्चर बना सकते हैं.

Q – क्या Silo Structure बनाने से वेबसाइट की रैंकिंग सुधरती है?

SEO में केवल Silo ही एक फैक्टर नहीं है. किसी भी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए 200 से भी अधिक फैक्टर होते हैं. लेकिन 2022 में Silo एक बेहद कारगर तकनीकी है वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए.

यह भी पढ़ें –

अंतिम शब्द: Silo Structure Kya Hai हिंदी में

इस लेख को पढ़ने के बाद आप लोग जरुर समझ गए होंगे कि Silo Structure Kya Hai और एक वेबसाइट के लिए यह कितना फायदेमंद है. साथ में ही इस लेख को पढने के बाद आप आपको समझ आ गया होगा कि कैसे आप अपनी वेबसाइट के लिए Silo Structure बनाकर रैंक करवा सकते हैं.

इस लेख में इतना ही, आशा करता हूँ कि आपको यह लेख पसंद आया होगा. इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें. और इसी प्रकार के Helpful आर्टिकल पढने के लिए मेरे ब्लॉग में आते रहिये.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

0Shares
Categories SEO

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

Leave a Comment