SSL Certificate Kya Hai, इसके प्रकार तथा SSL कहाँ से ख़रीदे

आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे SSL Certificate Kya Hai. इन्टरनेट में बहुत सी वेबसाइट होती हैं जिनमें हमें अपने Email ID के द्वारा login करना होता है, या हम जब भी online shopping करते हैं तो हमें अपने बैंक की सारी Details देनी पडती है. आपने भी कभी न कभी ये चीजें जरुर की होंगी.

लेकिन आपने कभी सोचा है कि हमारे द्वारा दी जाने वाली जानकरी पूरी तरह से सुरक्षित है या नहीं? कोई इसका गलत इस्तेमाल तो नहीं करेगा? इस प्रकार की तमाम सारी बातें हम में से शायद बहुत लोग सोचते हैं. आपके इसी प्रकार के प्रश्नों में जवाब में मैंने यह पूरा आर्टिकल लिखा है.

अगर आप इस आर्टिकल को पढ़ रहे हैं तो आगे से ऑनलाइन प्लेटफॉर्म मे अपनी कोई भी जानकारी शेयर करने से पहले आपको एक चीज का जरुर ध्यान रखना है कि हमारे द्वारा दी जाने वाली जानकारी सुरक्षित है कि नहीं. अब ये पता कैसे चलेगा, उसके लिए आर्टिकल को पूरा पढ़ें.

अगर आप Blogger हैं या SEO करते हैं तो भी आपके लिए भी यह लेख बहुत ही Valuable साबित होगा क्योकि इस लेख के माध्यम से मैं आपको यह भी बताऊंगा कि SEO में SSL सर्टिफिकेट कितना महत्वपूर्ण है, और SSL certificate इस्तेमाल करने से हमारी वेबसाइट की रैंकिंग में क्या प्रभाव पड़ता है.

इस लेख में मैंने SSL Certificate को एक इन्टरनेट यूजर और एक ब्लॉगर दोनों के नजरिये से बताया है इसलिए आप इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को और जानते हैं SSL Certificate Kya Hai विस्तार से.

SSL सर्टिफिकेट क्या है (What is SSL Certificate in Hindi)

SSL का पूरा नाम Secure Sockets Layer होता है. SSL इन्टरनेट में इस्तेमाल किया जाने वाला एक encryption प्रोटोकॉल होता है जो इन्टरनेट ब्राउज़र तथा वेबसाइट के बीच सुरक्षित कनेक्शन प्रदान करता है. और यूजर को अनुमति देता है कि वह अपना प्राइवेट डेटा वेबसाइट के साथ सुरक्षित रूप से साझा कर सके.

जब भी आप कोई भी वेबसाइट open करते हो तो आपको वेबसाइट की शुरुआत में http और https लिखा हुआ मिलता है. जो वेबसाइट https के साथ खुलती है तो वह वेबसाइट SSL सर्टिफिकेट का इस्तेमाल करती है तथा पूरी तरह से सुरक्षित होती है. यहाँ पर आप बेफ़िक्र होकर अपना Email ID, Bank Detail या अपनी पर्सनल इनफार्मेशन दे सकते हैं. इसमे आपके द्वारा दी जाने वाली जानकारी पूरी तरह से सुरक्षित है.

कुल मिलाकर कहें तो SSL Certificate एक ऐसा जरिया होता है जो सुनिश्चित करता है कि इन्टरनेट पर एक्सेस की जाने वाली वेबसाइट सुरक्षित है.

SSL Certificate का उदाहरण (SSL Example in Hindi)

जैसे यह हमारी वेबसाइट Http के साथ Open हो रही है. क्योंकि इसमें SSL Certificate इनस्टॉल है, इसलिए आप ऐसी किसी भी वेबसाइट में अपनी mail ID, Bank Details आदि दे सकते हैं. यह पूरी तरह सुरक्षित है. (नीचे इमेज देखें)

Website With SSL Certificate

अगर कोई वेबसाइट http में open होती है तो इस प्रकार की वेबसाइट सुरक्षित नहीं होती है. इन वेबसाइट में आपको http से पहले non secure लिखा मिलेगा. अगर आप इस प्रकार की वेबसाइट में अपना पर्सनल इनफार्मेशन देते हैं तो आपको ख़तरा हो सकता है. बिना SSL की वेबसाइट कुछ इस प्रकार से दिखाई देती है (नीचे इमेज देखें).

Website without SSL Certificate

SSL Certificate की परिभाषा (Definition of SSL Certificate)

SSL Certificate वह माध्यम होता है जो किसी इन्टरनेट यूजर को अपनी Personal Information किसी वेबसाइट के साथ सुरक्षित रूप से साझा करते की अनुमति देता है.

Technical रूप से कहें तो, SSL छोटी Data Files होती हैं जो इन्टरनेट में प्रयोग की जाती हैं. यह एक encryption प्रोटोकॉल होता है. जब SSL को किसी Server में Install किया जाता है तो यह ब्राउज़र और वेबसाइट के बीच कनेक्शन को सुरक्षित बनाता है. SSL का प्रयोग मुख्य रूप से Online Transaction, DATA Transfer और Login Details को Secure बनाने के लिए किया जाता है.

SSL की फुल फॉर्म (SSL Full Form in Hindi)

SSL का Full Form Secure Sockets Layer होता है, जिसको हिंदी में सुरक्षित सॉकेट लेयर कहते हैं.

SSL Certificate के प्रकार (Types of SSL Certificate in Hindi)

SSL Certificate कई प्रकार के हो सकते हैं पर इस लेख में मैंने आपको 4 मुख्य SSL Certificate के बारे में बताया है.

1 – Single Domain SSL Certificate 

इस प्रकार के SSL Certificate को केवल डोमेन नाम पर ही इंस्टाल कर सकते हैं.अगर आप सबडोमेन बनाते हैं तो उन पर इस SSL Install नहीं कर सकते है. मतलब Single Domain SSL केवल डोमेन नाम पर ही Install किया जा सकता है.

2 – Multi – Domain SSL Certificate

इस प्रकार के SSL को आप अपने डोमेन के साथ – साथ सबडोमेन पर भी इनस्टॉल कर सकते हैं. इसके अलावा अगर आपकी वेबसाइट के अलग – अलग version है तो उन सभी पर SSL active कर सकते हैं.

3 – Organization Validation SSL Certificate 

इस प्रकार के SSL का प्रयोग Business Website को सुरक्षित करने के लिया किया जाता है. जिससे Customer को अपने Personal Details देने में कोई परेशानी न हो.

4 – EV SSL Certificate 

EV का पूरा नाम Extended Validation SSL certificate होता है. यह SSL भी बिज़नस के लिए ही है. इस प्रकार के SSL का प्रयोग करने वाले बिज़नस वेबसाइट का Address bar हरा रंग का दिखाई देता है और साथ में बिज़नस का नाम भी दिखता है. यह एक उच्च सुरक्षा वाला SSL Certificate है.

Http और Https में अंतर

लेख को यहाँ तक पढने के बाद आप समझ गए होंगे कि SSL Certificate Kya Hai, अब Http और Https के बीच अंतर को भी समझ लेते हैं. Http और Https के बीच अंतर को हमने नीचे सारणी के द्वारा आपको बताया है, जिससे आपको समझने में आसानी हो सके.

http ( Hypertext Transfer Protocol) https (Hypertext Transfer Protocol Secure)
वेबसाइट का URL http:// से शुरू होता है.वेबसाइट का URL https:// से शुरू होता है.
Http के साथ Open होने वाली वेबसाइट असुरक्षित होती हैं.Https के साथ Open होने वाली वेबसाइट सुरक्षित होती है.
Http में TLS सर्टिफिकेट नहीं होता है. Https में TLS सर्टिफिकेट भी होता है.
Http Encrypted नहीं होता है. Https पूरी तरह से Encrypted होता है.
OSI नेटवर्क मॉडल के एप्लीकेशन लेयर पर काम करता है.OSI नेटवर्क मॉडल के ट्रांसपोर्ट लेयर पर काम करता है.
Http पोर्ट नंबर 80 पर काम करता है. Https पोर्ट नंबर 443 पर कम करता है.

अगर आप एक Blogger, Web developer या SEO Person हैं तो नीचे की जानकारी आपके लिये बहुत महत्वपूर्ण है. अगर आप ये दोनों ही नही हैं तो आप चाहे ये जानकारी पढ़ भी सकते हैं और नहीं भी.

SEO के नजरिये से SSL Certificate

एक वेबसाइट को सर्च इंजन के पहले पेज पर रैंक करवाने के लिये वेबसाइट में SSL Certificate का होना बहुत जरूरी होता है. अगर आप कुछ समय पहले से Blogging कर रहे हैं तो, आप जानते होंगे कि किसी भी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिये गूगल ने 200 से भी ज्यादा फैक्टर बताये हैं.

गूगल ने स्पष्ट रूप से इन सभी फ़ैक्टर के बारे में खुलकर नहीं बताया है. लेकिन जब 2014 में गूगल के अल्गोरिथम में बदलाव हुआ तो गूगल ने यह अनिवार्य कर दिया कि जिस वेबसाइट में SSL certificate होगा उस वेबसाइट की रैंकिंग में भी सुधार होगा. और जिस वेबसाइट में SSL Certificate नहीं होगा उस वेबसाइट की रैंकिंग डाउन हो जाएगी.

और इसका फर्क कुछ समय बाद साफ़ दिखाई दिया. जिन वेबसाइट में SSL इनस्टॉल था वे सभी वेबसाइट Top पेज पर रैंक करने लगी. और जिनमे SSL इनस्टॉल नहीं था उन सभी वेबसाइट को रैंकिंग में भारी नुकसान उठाना पड़ा.

इसलिए जब भी आप अपने ब्लॉग शुरू करते हैं तो SSL को जरुर इनस्टॉल कर लें. इससे आपकी वेबसाइट की रैंकिंग में बहुत फर्क पड़ेगा. अब आप सभी जान गए होंगे कि SSL सर्टिफिकेट SEO में कितना महत्वपूर्ण है.

SSL Certificate कहाँ से ख़रीदे 

Market में Online बहुत सी Company है जो आपको SSL Certificate Provide करवा देती हैं. जैसे Godaddy, Bigrock, Namecheap etc.

अगर आप एक Blogger है और आपका Blog गूगल के प्रोडक्ट Blogger.com पर है तो आपको SSL Certificate खरीदने की कोई जरुरत नहीं है गूगल यह आपको फ्री में प्रदान करवाता है.

यदि आपकी वेबसाइट WordPress पर बनी है तो आप जिस कंपनी से Hosting खरीदेंगे वह कंपनी आपको SSL Certificate भी प्रदान करवा देती है. वैसे आजकल सभी होस्टिंग कंपनी फ्री में SSL सर्टिफिकेट की सुविधा मुहैया करा देती है.

अगर आप वर्डप्रेस ब्लॉग बनाने के लिए एक बेस्ट होस्टिंग प्रदाता ढूंढ़ रहें हैं तो शुरुवात के लिए Bluehost सबसे Best Hosting Provider है. यहाँ पर आपको 1 साल के लिए फ्री डोमेन और Lifetime फ्री SSL सर्टिफिकेट मिल जाता है, और वर्डप्रेस भी Bluehost को Recommend करता है.

FAQ For SSL Certificate in Hindi

Q – SSL का Full Form क्या है?

SSL का Full Form होता है – Secure Sockets Layer.

Q – http और https में क्या अंतर है?

https किसी भी Website और Browser के Connection को सुरक्षित बनाता है जबकि http नहीं.

Q – एक ब्लॉगर को SSL Certificate कहाँ से खरीदना चाहिए?

अगर आप WordPress पर Blog बना रहें है तो आप जिस Company से Hosting खरीदेंगे वह company आपको SSL certificate प्रदान करवा देगी.

Q – क्या हमें बिना Https वाली वेबसाइट में अपनी पर्सनल डिटेल देनी चाहिए?

नहीं हमें without SSL या http वाली Website में कभी भी अपने Personal Details नहीं देनी चाहिए.

Q – Http का पूरा नाम लिखिए?

Http का पूरा नाम Hypertext Transfer Protocol है.

यह महत्वपूर्ण लेख भी पढ़ें –

आपने क्या सीखा: SSL Certificate Kya Hai

इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि SSL Certificate Kya Hai और यह कितना जरुरी होता है. अगर आप इन्टरनेट यूजर है तो किसी भी वेबसाइट में अपनी पर्सनल इनफार्मेशन को शेयर करने से पहले यह जरुर देख लें कि उस वेबसाइट में SSL इनस्टॉल है या नहीं.

और अगर आप Blogger है तो अपने वेबसाइट में SSL को जरुर इनस्टॉल करें इससे आपको रैंकिंग में बहुत फायदा मिलेगा. कमेंट करके जरुर बताइयेगा कि आपको हमारे द्वारा लिखी पोस्ट कैसे लगी. और इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर साझा करें.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

0Shares
Categories SEO

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

4 thoughts on “SSL Certificate Kya Hai, इसके प्रकार तथा SSL कहाँ से ख़रीदे”

  1. बहुत ही बढ़िया जानकारी दिया ssl सर्टिफ़िकेट के बारे में। पर जब ब्लॉगर में पहले से ही SSL सर्टिफिकेट फ्री में मिल रही है ,तो blogger की पोस्ट वर्डप्रेस से कम रैंकिंग में क्यों रहतीं है।

    Reply
    • Thnxx for Your Comment Brother ,

      Blogger की Post भी Rank करती है अगर SEO अच्छे से करें तो. होता ऐसा है कि Mostly बड़े Blogger WordPress पर अपना Blog शुरू करते हैं और नए Blogger Blogger.com पर. जो pro Blogger होते हैं उन्हें पता होता है कि किसी भी Article को rank कैसे करवाना है और एक नए Blogger को इतनी जानकारी नहीं होती है. और साथ में ही WordPress में बहुत सारे ऐसे Plugin मिल जाते हैं जिनकी मदद से SEO करना आसान हो जाता है. और किसी भी article को rank करवाने के लिए केवल SSL ही एक Factor नहीं होता है.

      Reply
    • SSL Certificate इसलिए होता है ताकि यूजर सुरक्षित तरीके से इन्टरनेट एक्सेस पर पाये. वेबसाइट को हैक होने से बचाने के लिए आपको Security Plugin इनस्टॉल करने होंगें.

      Reply

Leave a Comment