VPN Kya Hai, कैसे उपयोग करें तथा इसके फायदे व नुकसान

VPN Kya Hai – अगर आप इन्टरनेट में अपनी सिक्यूरिटी और प्राइवेसी के लिए चिंतिंत रहते हैं तो VPN का उपयोग करना आपके लिए एक अच्छा विकल्प है. आजकल सारे काम ऑनलाइन हो चुके हैं. आप पैसों का लेनदेन, खरीददारी, बैंकिंग, ट्रेडिंग, इन्वेस्टमेंट सभी ऑनलाइन कर सकते हैं. चीजों के ऑनलाइन होने से एक और जहाँ यूजर को फायदा मिला है तो वहीँ दूसरी ओर ऑनलाइन ठगी का व्यवसाय भी बहुत तेजी से बढ़ा है.

ये ऑनलाइन ठग कई सारे लोगों के बैंक अकाउंट खाली कर चुके हैं, कई लोगों के पर्सनल डेटा को चोरी करके दूसरों को बेचते हैं. इसलिए ऑनलाइन सिक्यूरिटी और प्राइवेसी आज सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है. इस समस्याओं को दूर करने के लिए खोजे गए उपायों में VPN सबसे लोकप्रिय है. VPN का उपयोग करके आप अपनी पहचान को गोपनीय रखकर सुरक्षित तरीके से इन्टरनेट एक्सेस कर सकते हैं.

YouTube Channel
Telegram Group

लेकिन क्या आप जानते हैं VPN क्या है? वीपीएन काम कैसे करता है? कंप्यूटर और मोबाइल में वीपीएन का उपयोग कैसे करें? तथा वीपीएन उपयोग करने के फायदे और नुकसान क्या हैं?

यदि आप इन सभी सवालों का जवाब जानना चाहते हैं तो आप एकदम सही ब्लॉग पोस्ट पर आये हैं. आज के इस आर्टिकल में हम आपको VPN की सारी जानकारी देंगें. तो चलिए फिर देर किस बात की शुरू करते हैं आज का यह आर्टिकल.

वीपीएन का फुल फॉर्म (VPN Full Form in Hindi)

VPN का फुल फॉर्म Virtual Private Network (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क) होता है जिसे कि हिंदी में आभासी निजी नेटवर्क कहते हैं. VPN एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जो आपके इन्टरनेट कनेक्शन को सुरक्षित बनाती है.

वीपीएन क्या है (What is VPN)

VPN एक नेटवर्क होता है जिसका इस्तेमाल प्राइवेट नेटवर्क और पब्लिक नेटवर्क को सिक्योर करने के लिए किया जाता है. VPN का इस्तेमाल करके आप अपनी आइडेंटिटी को छुपाकर इन्टरनेट एक्सेस कर सकते हैं, जिससे की आपकी कोई इनफार्मेशन आपके इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर (ISP) के पास नहीं जाती है.

VPN में आप दुनियाभर में से किसी एक लोकेशन को सेलेक्ट करके अपने डिवाइस में इन्टरनेट को एक्सेस कर सकते हैं जिससे कि कोई भी आपकी सिक्यूरिटी और प्राइवेसी को break नहीं कर पायेगा.

इसके अलावा अगर आपकी IP एड्रेस या लोकेशन पर कोई वेबसाइट या एप्लीकेशन ब्लॉक है तो आप VPN के द्वारा उस वेबसाइट / एप्लीकेशन को एक्सेस कर सकते हैं.

वीपीएन काम कैसे करता है (How Does VPN Works)

How Does VPN Works

जब भी आप अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप के ब्राउज़र में किसी वेबसाइट को ओपन करते हैं तो सबसे पहले आपकी request आपके ISP (इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर) के पास जाती है. ISP आपके डिवाइस की IP एड्रेस के द्वारा पता कर लेते हैं कि request कहाँ से आई है.

इसके बाद ISP आपको उस वेबसाइट के सर्वर से जोड़ देते हैं और फिर आप उस वेबसाइट को अपने डिवाइस में एक्सेस कर पाते हैं. यहाँ पर आपके और वेबसाइट के बीच में सभी डेटा का आदान प्रदान ISP के द्वारा ही होता है, जिसके कारण आपका कुछ भी डेटा गोपनीय नहीं रहता है.

इसके अलावा आपका नेटवर्क भी सिक्योर नहीं रहता है और हमेशा डेटा चोरी होने का ख़तरा बना रहता है. साथ ही आप किसी ब्लॉक की गयी वेबसाइट को भी एक्सेस नहीं कर पाते हैं. VPN इन सारे समस्याओं का समाधान प्रदान करता है.

अब माना अगर आप अपने डिवाइस में VPN का उपयोग करते हैं तो जब आप अपने डिवाइस के ब्राउज़र में किसी वेबसाइट को ओपन करते हैं तो आपकी Request ISP के पास ना जाकर VPN के पास जाती है और VPN आपकी request लेकर उस वेबसाइट के सर्वर से जुड़ता है और आपकी request के अनुसार इनफार्मेशन लेकर आपको ब्राउज़र में दिखता है.

VPN के द्वारा request करने पर आपके और वेबसाइट के बीच में डेटा का आदान प्रदान VPN से होता है, और आपकी कुछ भी इनफार्मेशन जैसे IP एड्रेस, डिवाइस ID, लोकेशन ISP और वेबसाइट सर्वर के पास नहीं जाती है. इस प्रकार से आप गोपनीय व सुरक्षित तरीके से इन्टरनेट एक्सेस कर सकते हैं.

वीपीएन का उपयोग कैसे करें (How to Use VPN)

VPN का उपयोग करना आसान है, आप एक अच्छे वीपीएन सर्विस प्रोवाइडर को सेलेक्ट करके अपने डिवाइस में इनस्टॉल कर लीजिये, और फिर उस VPN एप्लीकेशन में अपना अकाउंट बनाकर VPN को एक्टिवेट कर लीजिये. बस इतना करते ही आप अपने डिवाइस में VPN का उपयोग कर सकते हैं. VPN में आप अपने अनुसार लोकेशन को सेट भी कर सकते हैं. अगर आप किसी टाइम पर VPN का उपयोग नहीं करना चाहते हैं तो VPN को डिसकनेक्ट कर सकते हैं.

नीचे हमने आपको कंप्यूटर और मोबाइल में VPN को सेट करने की प्रोसेस बताई है.

कंप्यूटर में वीपीएन का उपयोग कैसे करें?

  • कंप्यूटर में VPN का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले VPN सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल कर लीजिये.
  • इसके बाद VPN को ओपन करें और अपनी लोकेशन सेट करें.
  • Connect पर क्लिक करके VPN को अपने डिवाइस में कनेक्ट कर लीजिये.

मोबाइल में वीपीएन का उपयोग कैसे करें?

  • मोबाइल में VPN सेट करने के लिए आप अपने प्ले स्टोर या ऐप स्टोर से अपने पसंदीदा VPN को डाउनलोड करके अपने डिवाइस में इंस्टाल कर लीजिये.
  • ऐप को ओपन करें और अपनी लोकेशन को सेट करें.
  • इसके बाद Connect पर क्लिक करके अपने डिवाइस को VPN से कनेक्ट कर लीजिये.

मोबाइल और कंप्यूटर के लिए बेस्ट VPN सर्विस प्रदाता

ऑनलाइन मार्केट में आपको बहुत सारे VPN प्रोवाइडर मिल जायेंगें, लेकिन सभी VPN प्रदाता पर आप आँख बंद करके भरोसा नहीं कर सकते हैं. नीचे टेबल के माध्यम से हमने आपको मोबाइल और कंप्यूटर के लिए 5 – 5 बेस्ट VPN Service Provider के बारे में बताया है.

कंप्यूटरस्मार्टफोन
Nord VPNTurbo VPN
SurfEasy VPNSecure VPN
Proton VPNThunder VPN
Ghost VPNSuper VPN
Express VPNNord VPN

आर्टिकल को यहाँ तक पढने पर आप VPN Kya Hai को अच्छी प्रकार से समझ गए होंगें, चलिए अब VPN के फायदे और नुकसानों के बारे में भी जान लेते हैं.

वीपीएन के फायदे (Advantage of VPN in Hindi)

VPN का इस्तेमाल करने के अनेक सारे फायदे उपयोगकर्ता को होते हैं, VPN के कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • VPN का उपयोग करके आप गोपनीय तरीके से इन्टरनेट एक्सेस कर सकते हैं, क्योंकि VPN आपके IP Address को hide कर देता है.
  • VPN आपके कनेक्शन को सिक्योर करता है जिससे कि आप सुरक्षित तरीके से इन्टरनेट एक्सेस कर पाते है.
  • VPN आपके डेटा को encrypt करके हैकर से सुरक्षित रखता है.
  • VPN से इन्टरनेट की परफॉरमेंस भी बढती है.
  • VPN का उपयोग करके आप उन वेबसाइटों को भी एक्सेस कर सकते है जो आपके देश या एरिया में ब्लॉक हैं.
  • वीपीएन आपको पूरी freedom के साथ इन्टरनेट एक्सेस करने की अनुमति देता है.

वीपीएन के नुकसान (Disadvantage of VPN in Hindi)

VPN का इस्तेमाल करने के कुछ नुकसान भी हो सकते हैं जैसे कि –

  • VPN का इस्तेमाल करने से आपकी पहचान आपके ISP के पास नहीं जाती है लेकिन आपका सारा डेटा VPN के सर्वर में मौजूद होता है. इसलिए यदि आप भरोसेमंद VPN का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो वह आपके डेटा को किसी तीसरे पक्ष के साथ शेयर कर सकते हैं.
  • अधिकतर अच्छे VPN का इस्तेमाल करने के लिए आपको भुगतान करना होगा.
  • फ्री VPN में आपको बहुत सारे विज्ञापन देखने को मिलते हैं.
  • VPN का इस्तेमाल तभी करना चाहिए जब आपको इसकी बहुत अधिक जरुरत है, अगर आप VPN के द्वारा किसी प्रतिबंधित वेबसाइट को एक्सेस कर सकते हैं तो इससे आपको समस्या भी हो सकती है.
  • कई हैकर भी VPN का उपयोग करके अपनी पहचान को छुपाते हैं.

इन्हें भी पढ़ें –

निष्कर्ष: VPN Kya Hai हिंदी में

तो दोस्तों यह थी VPN Kya Hai की पूरी जानकारी. इस आर्टिकल में हमने आपको बहुत आसान शब्दों में VPN के बारे में समझाया है जिससे कि आपके मन में VPN को लेकर कोई Confusion ना रहें.  

उम्मीद करते हैं दोस्तों आपको इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी अच्छे से समझ आ गयी होगी, यदि अभी भी आपके मन में इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सवाल हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं. और साथ ही इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर करें.

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||