Web Hosting cPanel क्या है और cPanel में कैसे Login करें?

दोस्तों अगर आप एक वेब डेवलपर हैं या फिर एक ब्लॉगर, आपने जब कभी वेब होस्टिंग ख़रीदा होगा तो cPanel के बारे में जरुर सुना होगा, जहाँ से आप अपने वेब होस्टिंग को मैनेज कर सकते हैं.

कई लोग cPanel का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन उन्हें cPanel के बारे में कम्पलीट जानकारी नहीं होती है जैसे कि cPanel Kya Hai, इसका उपयोग क्यों किया जाता है, cPanel में Login कैसे करें, cPanel की विशेषतायें क्या हैं, cPanel में कौन – कौन से टूल मिलते हैं इत्यादि.

अगर आपको भी cPanel के बारे में जानकारी नहीं है और आप इसके बारे में जानना चाहते हैं तो इस ब्लॉग पोस्ट को अंत तक पढ़ें. आज के इस आर्टिकल में हमने आपको cPanel के बारे में कम्पलीट इनफार्मेशन प्रदान की है. तो चलिए बिना किसी देरी के शुरू करते हैं आज का यह आर्टिकल.

cPanel क्या है (What is cPanel)?

cPanel या Control panel एक Linux ऑपरेटिंग सिस्टम आधारित सॉफ्टवेयर है जो यूजर को उनकी वेब होस्टिंग को आसानी से मैनेज करने में मदद करता है.

cPanel से यूजर अपने सर्वर से related सभी चीजों को कंट्रोल और मैनेज कर सकता है, इसे वेब होस्टिंग प्रदाता कंपनी अपने यूजर को प्रदान करवाती हैं. cPanel के लिए यूजर को अलग से Login credential भी मिल जाते हैं. अधिकतर वेब होस्टिंग कंपनी आपको cPanel अलग से प्रदान नहीं करवाती है बल्कि यह सुविधा आपके होस्टिंग में Build करके देती है, और इसके लिए वह कोई चार्ज नहीं लेते हैं.

cPanel एक सामान्य शब्द है जिसका मतलब होता है कि जहाँ से सभी चीजों को मैनेज किया जाता है. वेब होस्टिंग में cPanel से आप अपनी वेबसाइट और उससे जुडी चीजों को मैनेज कर सकते हैं, जैसे कि स्टोरेज, डेटाबेस, डोमेन, वेबसाइट की सिक्यूरिटी इत्यादि. cPanel से आप केवल एक क्लिक में किसी भी फाइल को Configure कर सकते हैं.

cPanel में दो इंटरफ़ेस होते हैं एक यूजर इंटरफ़ेस जिसे कि cPanel कहा जाता है और दूसरा सर्वर मैनेजमेंट इंटरफ़ेस जिसे कि WHM (Web Host Manager) कहा जाता है.

cPanel का इतिहास (History of cPanel)

cPanel एक सॉफ्टवेयर या टूल का सेट है, यह अमेरिका की एक कंपनी है जिसके फाउंडर Nick Koston है. Nick Koston ने 21 मार्च 1996 को cPanel रिलीज़ किया था. cPanel को सर्वर मैनेजमेंट के लिए बनाया गया था. cPanel को Perl कोडिंग लैंग्वेज में लिखा गया है.

cPanel के सहज उपयोग के कारण अधिकतर होस्टिंग प्रदाता ने इसे अपना लिया और वह अपने यूजर को उनकी वेबसाइट मैनेज करने के लिए cPanel प्रदान करने लगे. वर्तमान समय में सर्वर को मैनेज करने के लिए cPanel सबसे बेहतर और लोकप्रिय विकल्प है.

cPanel की विशेषतायें (Feature of cPanel in Hindi)

cPanel की कुछ प्रमुख विशेषतायें निम्नलिखित हैं जिसके कारण यह अधिकतर वेब होस्टिंग प्रदाताओं की पहली पसंद है.

  • cPanel उपयोगकर्ताओं को यूजर फ्रेंडली इंटरफ़ेस प्रदान करता है जिसके कारण कोई भी यूजर cPanel के द्वारा आसानी से वेबसाइट को मैनेज कर सकता है.
  • cPanel एक लोकप्रिय कंट्रोल पैनल है जो कई वेबसाइट बिल्डर, third party एप्लीकेशन, SEO टूल आदि को सपोर्ट करता है.
  • cPanel की मदद यूजर किसी भी एडवांस तकनीकी ज्ञान के जटिल से जटिल कार्य कर सकता है जैसे सबडोमेन बनाना, FTP अकाउंट बनाना, MySQL डेटाबेस मैनेज करना आदि.
  • cPanel के द्वारा यूजर किसी भी चीज को बिना किसी कोडिंग के Configure कर सकते हैं.
  • cPanel का सपोर्ट सिस्टम भी बहुत विश्वशनीय है, आपको इसके फोरम, ब्लॉग में कई सारे resource मिल जायेंगें जहाँ से आप cPanel में आने वाली किसी भी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं.

cPanel में कौन – कौन से टूल मिलते हैं?

जब आप अपने cPanel के अन्दर Login करते हैं तो आपको यहाँ पर ढेर सारे टूल देखने को मिलते हैं, इन सभी टूल की मदद से आप अपने वेबसाइट और सर्वर को मैनेज कर पाते हैं. यहाँ नीचे हमने आपको cPanel के अंदर कुछ मुख्य टूल के बारे में बताया है. हालाँकि अलग – अलग होस्टिंग प्रदाताओं में cPanel की डिजाईन और फीचर भी अलग हो सकते हैं.

#1 – File Manager (फाइल मैनेजर)

एक सामान्य यूजर के लिए cPanel में सबसे काम आने वाला टूल फाइल मैनेजर ही है. फाइल मैनेजर की मदद से यूजर सीधे cPanel में फाइलों को मैनेज कर सकते हैं. जैसे कि फाइल अपलोड करना, डिलीट करना, फाइल में बदलाव करना, बैकअप लेना इत्यादि. जिस प्रकार आप अपने मोबाइल में फाइल मैनेजर का उपयोग करते हैं उसी प्रकार से cPanel के अन्दर भी फाइल मैनेजर का उपयोग किया जाता है.

#2 – Database (डेटाबेस)

डेटाबेस में आपकी वेबसाइट का कम्पलीट डेटा मौजूद होता है. जब आप एक होस्टिंग में multiple डोमेन add करते हैं तो आपको प्रत्येक डोमेन के लिए एक अलग से डेटाबेस बनाने की जरुरत पड़ती है. नया डेटाबेस का आपको यूजरनाम और पासवर्ड भी अलग बनाना पड़ता है. अगर आप ऐसा नहीं करेंगें तो आपके सभी वेबसाइट का डेटा मिक्स हो जायेगा जिससे कि आपको परेशानी होगी.

#3 – Domain (डोमेन)

आपने वेब होस्टिंग में जितने भी डोमेन add किये हैं उन सब की जानकारी यहाँ पर होती है. इस सेक्शन से आप अपने सभी डोमेन को मैनेज कर सकते हैं, जैसे कि डोमेन add करना, remove करना, redirect करना आदि. साथ ही यहाँ पर आपको Subdomain का ऑप्शन मिलता है जहाँ से आप किसी भी डोमेन का सबडोमेन create कर सकते हैं और उसे मैनेज कर सकते हैं.

#4 – Metrics (मैट्रिक्स)

इस सेक्शन से आप अपने वेबसाइट के ट्रैफिक से related जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. जैसे आपके वेबसाइट में रोजाना कितने विजिटर आ रहे हैं, आपकी वेबसाइट कितना बैंडविड्थ इस्तेमाल कर रही है इत्यादि.

#5 – Application (एप्लीकेशन)

एप्लीकेशन वाले सेक्शन में आपको सभी प्रकार के वेब डेवलपमेंट एप्लीकेशन मिल जाते हैं जिनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट को एक क्लिक में configure कर सकते हैं. जैसे WordPress, Joomla, Drupal इत्यादि. आप cPanel की मदद से वर्डप्रेस या किसी अन्य वेब डेवलपमेंट एप्लीकेशन को आसानी से इनस्टॉल कर सकते हैं.

#6 – Securities (सुरक्षा)

इस सेक्शन में आपको अपनी वेबसाइट के लिए Security कंट्रोल के ऑप्शन मिल जायेंगें जिससे कि आप अपनी वेबसाइट को सिक्योर बना सकते हैं. जैसे Security Check, SSL, TLS.

#7 – Email (ईमेल)

इस सेक्शन से आप अपने किसी भी डोमेन के लिए प्रोफेशन ईमेल अकाउंट बना सकते हैं, और उसे मैनेज कर सकते हैं. जैसे मेरा यह डोमेन है hinditechdr.com, तो मैं cPanel में ईमेल वाले सेक्शन से [email protected] ईमेल ID बना सकता हूँ. यहाँ पर आपको ईमेल अकाउंट को मैनेज करने के लिए कई बेहतरीन ऑप्शन भी मिल जाते हैं.

हालाँकि सभी वेब होस्टिंग कंपनियों के पैकेज में फ्री में Email Account की सुविधा नहीं होती है, इसके लिए आपको extra charge करना पड़ेगा.

तो दोस्तों ये सभी सुविधाएं आपको cPanel के अन्दर मिल जाती है.

cPanel में कैसे Login करें?

लेख को यहाँ तक पढने के बाद आप लोग समझ गए होंगें कि cPanel Kya Hai, चलिए अब जानते हैं cPanel का इस्तेमाल कैसे किया जाता है या cPanel में Login कैसे करें.

जब आप किसी cPanel होस्टिंग प्रदाता से होस्टिंग खरीदते हैं तो आपको cPanel में Login करने के लिए एक URL मिलेगा जो कि कुछ इस प्रकार से होता है – https://www.example.com:2083. यहाँ example.com आपकी वेबसाइट का नाम है.

इसके साथ ही आपको यूजरनाम और पासवर्ड भी मिलता है, जब आप दिए गए URL को ओपन करेंगें तो जो वेबपेज आपके सामने ओपन होगा उसमें आप यूजरनाम और पासवर्ड डालकर cPanel में Login कर सकते हैं.

बेस्ट cPanel होस्टिंग प्रदाता

मार्केट में कई सारी लोकप्रिय वेब होस्टिंग प्रदाता कंपनियां हैं जो वेबसाइट और सर्वर को मैनेज करने के लिए cPanel प्रदान करवाती हैं. वर्डप्रेस वेबसाइट के लिए एक बेस्ट cPanel होस्टिंग प्रदाता को सेलेक्ट करना आवश्यक है, यहाँ नीचे हमने आपको कुछ बेस्ट cPanel होस्टिंग प्रदाताओं के बारे में बताया है जो अपने होस्टिंग प्लान के साथ बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के cPanel प्रदान करवाते हैं.

cPanel और WHM में अंतर

cPanel और WHM एक दुसरे से बिल्कुल अलग हैं, इन दोनों के बीच अंतर को हमने नीचे टेबल के द्वारा आपको समझाया है.

cPanel (Control Panel)WHM (Web Host Manager)
cPanel होस्टिंग प्रदाताओं के द्वारा यूजर को प्रदान किया जाने वाला एक कंट्रोल पैनल है जिसका उपयोग यूजर स्वयं के होस्टिंग खातों को मैनेज करने के लिए करते हैं.WHM एक Reseller कंट्रोल पैनल है, जिसका उपयोग Resellers अपने Reseller होस्टिंग प्लान पर सभी होस्टिंग अकाउंट को मैनेज करने के लिए करते हैं.
WHM एक सुरक्षित पोर्ट नंबर 2087 के माध्यम से कार्य करता है.cPanel अपने सुरक्षित पोर्ट नंबर 2083 के माध्यम से कार्य करता है.
cPanel यूजर को सर्वर पर केवल वेब होस्टिंग अकाउंट तक एक्सेस प्रदान करता है.  WHM Resellers को Root Level एक्सेस प्रदान करता है.
cPanel यूजर अपने अनुसार पासवर्ड को सेट कर सकता है.WHM का पासवर्ड बदलने पर cPanel का पासवर्ड भी बदल जाता है.
cPanel में Add on डोमेन और सबडोमेन को जोड़ना और हटाना संभव है.WHM में केवल एक डोमेन जोड़ सकते हैं, इसमें आप सबडोमेन भी add नहीं कर सकते हैं.

FAQ: cPanel Kya Hai

Q – cPanel क्या होता है?

cPanel एक लोकप्रिय वेब होस्टिंग कंट्रोल पैनल सॉफ्टवेयर है जिसे कि अमेरिका की कंपनी cPanel LLC के द्वारा ड़ेवलप किया गया है. यह एक ग्राफिकल इंटरफ़ेस (GUI) और ऑटोमेशन टूल प्रदान करता है जिसकी मदद से वेबसाइट के मालिक अपने सर्वर और वेबसाइट को आसानी से मैनेज कर पाते हैं.

Q – cPanel का फुल फॉर्म क्या है?

cPanel का फुल फॉर्म Control Panel है जिसे कि हिंदी में नियंत्रण फलक कहते हैं.

Q – क्या cPanel फ्री हैं?

चूँकि cPanel एक Third Party एप्लीकेशन है इसलिए यह फ्री में उपलब्ध नहीं है, लेकिन अधिकतर वेब होस्टिंग कंपनियां बिना किसी extra चार्ज के यूजर को अपने होस्टिंग प्लान में cPanel प्रदान करवाती है. कुछ होस्टिंग प्रदाता ऐसे भी हैं जो पहले 1 साल के लिए cPanel फ्री में उपलब्ध करवाते हैं और उसके बाद cPanel के लिए चार्ज करते हैं.

Q – cPanel का उपयोग क्यों किया जाता है?

cPanel का उपयोग वेब होस्टिंग सर्वर को मैनेज करने के लिए किया जाता है. यह उपयोगकर्ताओं को ह्यूमन फ्रेंडली इंटरफ़ेस प्रदान करता है.

यह लेख भी पढ़ें

निष्कर्ष,

तो दोस्तों यह थी cPanel की कम्पलीट इनफार्मेशन. हमें पूरी उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आप अच्छी प्रकार से समझ गए होंगें कि वेब होस्टिंग cPanel Kya Hai और यह वेबमास्टर के लिए कितना जरुरी है.

अधिकतर लोकप्रिय वेब होस्टिंग प्रदाता cPanel को ही पसंद करते हैं क्योंकि इसके द्वारा वेबसाइट को मैनेज करना आसान है. हालाँकि 2019 के बाद से cPanel के प्राइस बढ़ने से कुछ होस्टिंग प्रदाता ने अन्य कंट्रोल पैनल पर switch किया है, लेकिन शुरुवाती वेबसाइट डेवलपर के लिए cPanel होस्टिंग सबसे अच्छा विकल्प है.

इस लेख में इतना ही, उम्मीद करते हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा. अगर इस आर्टिकल से आपको कुछ सीखने को मिला तो इस जानकारी को सोशल मीडिया पर शेयर करके अन्य लोगों तक भी पहुंचायें, और यदि आपके मन में इस लेख से सम्बंधित कोई सवाल हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं.

लेख को अंत तक पढने के लिए धन्यवाद||

0Shares

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

Leave a Comment