CTR Kya Hai और CTR की गणना कैसे की जाती है?[CTR Full Form in Hindi]

डिजिटल मार्केटिंग में सामान्यतौर पर एक CTR Metrix का इस्तेमाल हर जगह किया जाता है, पर क्या आप जानते हैं CTR Kya Hai, CTR Full Form in Hindi और CTR की गणना कैसे की जाती है.

यदि नहीं तो आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको CTR के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं. इसके साथ ही हम आपको यह भी बतायेंगें कि वेबसाइट, Google AdSense और Google Ads में CTR का मतलब क्या होता है.

तो अगर आप CTR के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो बने रहिये इस लेख के अंत तक.

CTR का फुल फॉर्म क्या है (CTR Full Form)

CTR का फुल फॉर्म Click-through rate होता है जिसे कि हिंदी में क्लिक-थ्रू रेट पढ़ा जाता है.

CTR क्या है (What is CTR in Hindi)

डिजिटल मार्केटिंग में CTR मार्केटिंग Camping में क्लिक और impression का अनुपात होता है. CTR की गणना advertising campaign पर क्लिक की संख्या को impression से विभाजित करके और फिर प्राप्त Value को प्रतिशत के रूप में व्यक्त करके की जाती है. CTR के द्वारा किसी भी ऑनलाइन advertising campaign को measure किया जाता है.

CTR की गणना कैसे की जाती है

चूँकि CTR में rate का इस्तेमाल हुआ है और जहाँ भी rate का इस्तेमाल होता है तो इसका मतलब है कि हमसे संख्या प्रतिशत के रूप में पूछी जा रही है, इसलिए CTR की गणना करने के लिए कुल क्लिक की संख्या से कुल Impression की संख्या से भाग दिया जाता है, और जो value निकलती है उसे 100 से गुणा कर दिया जाता है. आप निम्नलिखित सूत्र से CTR को calculate कर सकते हैं –

  • CTR = (Total Click/Total impression)*100

Website में CTR क्या होता है

यदि आपके पास ब्लॉग या वेबसाइट है जिसे आपने Google Search Console में सबमिट किया है तो आपको सर्च कंसोल में Performance वाले टैब में Average CTR देखने को मिलता होगा.

गूगल सर्च कंसोल में इस CTR का मतलब होता है कि आपकी वेबसाइट सर्च इंजन रिजल्ट पेज (SERP) में कितने लोगों के सामने दिखी यानि वेबसाइट पर कितने Impression आये और कितने लोगों ने वेबसाइट पर क्लिक किया. सर्च इंजन में वेबसाइट के Impression और click के औसत प्रतिशत की माप को वेबसाइट का CTR कहते हैं.

चलिए एक उदाहरण से समझते हैं, माना 100 यूजर गूगल पर same कीवर्ड सर्च कर रहें है जिस कीवर्ड पर आपकी वेबसाइट Top 10 पेज में रैंक कर रही है. इन 100 यूजर में से 3 यूजर क्लिक करके आपकी वेबसाइट पर आये तो आपके वेबसाइट का CTR 3 प्रतिशत होगा. इस उदाहरण में आपकी वेबसाइट को 100 Impression और 3 क्लिक मिले.

Website CTR कैसे बढ़ाएं

अगर आपके वेबसाइट का CTR बहुत ही ज्यादा कम रहता है तो आप निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखकर ब्लॉग का CTR बढ़ा सकते हैं.

  • Catchy टाइटल लिखें

ब्लॉग पोस्ट को टाइटल यूजर को सर्च इंजन रिजल्ट पेज में बड़े – बड़े अक्षरों में दिखाई देता है जिसे पढ़कर यूजर किसी ब्लॉग पर क्लिक करता है. आमतौर पर यूजर ऐसे ब्लॉग पर विजिट करते हैं जिनके टाइटल यूजर की Query के relevant हो. आप सही तरीके से कीवर्ड रिसर्च करें और फिर Search Intent को समझकर ब्लॉग पोस्ट का टाइटल लिखें.

हालंकि टाइटल के अतिरिक्त मेटा डिस्क्रिप्शन और URL भी SERP पर show होते हैं. लेकिन अधिकांश केस में गूगल ब्लॉग पोस्ट से यूजर की Query relevant डिस्क्रिप्शन को SERP पर show करता है और अधिकतर स्थितियों में URL कम्पलीट दिखाई नहीं देता है. इसलिए ब्लॉग पोस्ट का Catchy टाइटल होना बहुत महत्वपूर्ण है.

  • पोस्ट को Feature Snippets में लायें

SERP पर Feature Snippets एक ऐसा सेक्शन होता है जिसमें यूजर को ब्लॉग पोस्ट एक यूनिक तरीके से दिखाई देती है. Feature Snippets वाले सेक्शन में गूगल आपके पोस्ट से यूजर की Query से relevant पैराग्राफ को short form में दिखाता है, जो ब्लॉग Feature Snippets में रैंक कर रहे होते हैं उनमें क्लिक आने की संभावना अधिक होती है और इससे CTR बढ़ता है. आप Schema Markup का इस्तेमाल करके अपने ब्लॉग पोस्ट को Feature Snippets में ला सकते हैं.

  • अच्छा कंटेंट लिखें

आपको पूरी रिसर्च करके ऐसा ब्लॉग पोस्ट लिखना चाहिए जो यूजर की सभी Query का संतोषपूर्ण जवाब दे सके. इससे यूजर बाद – बार आपके ब्लॉग पर आना पसंद करेंगें, और अगर आपका ब्लॉग अन्य कीवर्ड पर 7 – 8 नंबर पर रैंक कर रहा है तो भी आपके ब्लॉग पर  क्लिक आने की संभावना रहती हैं. क्योंकि आपके लिखे आर्टिकल को यूजर पढना पसंद करते हैं.

तो यह थे कुछ तरीके जिनकी मदद से आप वेबसाइट का CTR बढ़ा सकते हैं.

वेबसाइट का CTR कितना होता चाहिए?

अनेक लोगों के मन में यह सवाल आता है कि किसी वेबसाइट के लिए आदर्श CTR कितना होना चाहिए. अगर Industry के average की बात करें तो 3 प्रतिशत CTR वेबसाइट के लिए आदर्श माना जा सकता है.

क्योंकि जब हमारी वेबसाइट Grow हो जाती है तो हमारे बहुत सारे कीवर्ड सर्च इंजन के पहले पेज में रैंक करते हैं जिससे वेबसाइट पर Impression बढ़ जाते हैं. अधिकांश यूजर Top 3 वेबसाइट पर ही विजिट करते हैं, ऐसे में अगर हमारी वेबसाइट 6 – 7 नंबर पर रैंक करती है तो क्लिक आने की संभावना कम हो जाती है, इसलिए वेबसाइट के लिए 3 प्रतिशत को आदर्श CTR माना जाता है.

अगर आपकी वेबसाइट का CTR 3 से अधिक रहता है तो आपको CTR के विषय में ज्यादा चिंता करने की जरुरत नहीं है.

Google AdSense में CTR क्या है

अगर आप अपने ब्लॉग से Google AdSense के द्वारा कमाई करते हैं तो आपको AdSense डैशबोर्ड में Performance वाले टैब में CTR का विकल्प देखने को मिलता होगा.

Google AdSense में CTR का मतलब होता है कि आपके ब्लॉग पर कितनी AdSense की ads दिखी और और उन पर आपको कितने क्लिक मिले. AdSense में जब यूजर को आपके ब्लॉग पर 1 ads दिखाई देती है तो AdSense इसे 1 Impression count करता है. अगर आपको ads पर 100 Impression मिले और इसमें से 2 यूजर ने ad पर क्लिक किया तो आपका CTR 2 प्रतिशत होगा.

हालाँकि Google AdSense में जो CTR आपको दिखाया जाता है वह Pageview और Ad क्लिक का दिखाया जाता है ना कि Ad Impression का. जैसे आपके ब्लॉग पर 100 Pageview हुए जिसमें 400 Ad Impression और 4 क्लिक आपको मिले तो AdSense में CTR 4% होगा.

Impression हमेशा Pageview से अधिक होते हैं क्योंकि एक पेज में आमतौर पर 4 – 5 ad यूजर को दिखाई देते हैं, यानि कि 1 Pageview पर 4 Impression.

Google AdSense CTR कैसे बढ़ाएं

Google AdSense से ज्यादा कमाई करने के लिए आपका CTR अच्छा होना होना चाहिए. CTR बढ़ाने के लिए आप निम्नलिखित टिप्स को फॉलो कर सकते हैं –

  • ब्लॉग में Ad Placement सही प्रकार से करें.
  • Ad Size को Responsive रखें.
  • बहुत अधिक ad ब्लॉग में ना लगायें.
  • वेबसाइट पर Organic Traffic लेकर आयें.

AdSense में CTR कितना होना चाहिए?

हालाँकि हम ब्लॉगर Google AdSense में CTR Increase करने के बारे में खोजते रहते हैं लेकिन AdSense में CTR 15 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए. अगर आपके AdSense में CTR 15 प्रतिशत से अधिक रहता है तो आपका AdSense अकाउंट हमेशा के लिए Disable हो सकता है, क्योंकि अधिक CTR होने से गूगल को यह सिग्नल जाता है कि Ads पर फेक क्लिक आ रहे हैं.

Google Ads में CTR का मतलब क्या होता है

यदि आप Google Ads के द्वारा अपने प्रोडक्ट और सर्विस को प्रमोट करते हैं तो भी आपको CTR Matrix डैशबोर्ड में देखने को मिलती है. ऑनलाइन advertising में यह matrix बहुत महत्वपूर्ण होती है. Google Ads में भी CTR कुल Impression पर मिले क्लिक की संख्या को कहते हैं.

जैसे कि आपकी ad 1000 लोगों को दिखी यानि ad पर 1000 Impression आये जिसमें से 50 लोगों ने ad पर क्लिक किया तो आपका Google Ads में CTR 5 प्रतिशत होगा.

Google Ads में CTR कैसे बढ़ाएं

Google Ads में CTR बढ़ाने के लिए आप निम्नलिखित बातों का ध्यान रख सकते हैं –

  • अपने headline और Ad Copy को ऑप्टिमाइज़ करें.
  • Call to Action शब्दों का इस्तेमाल करें.
  • Search Ad में Callout और Sitelink Extension का इस्तेमाल करें.
  • Display Ad में आकर्षक इमेज का इस्तेमाल करें.

Google Ads में CTR कितना होना चाहिए?

आंकड़ों के अनुसार Google Ads के सभी industry में सर्च नेटवर्क में औसतन CTR 1.91% तथा डिस्प्ले नेटवर्क में 0.35% होना चाहिए.

यह लेख भी पढ़ें –

निष्कर्ष: CTR Kya Hai हिंदी में

तो दोस्तों आज के इस ब्लॉग पोस्ट में हमने आपको CTR Kya Hai, CTR Full form in Hindi, CTR को Calculate कैसे करते हैं और वेबसाइट, Google AdSense तथा Google Ads में CTR के मतलब को अच्छे प्रकार से समझाया है. हमें पूरी उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आप CTR को अच्छे से समझ गए होंगें यदि अभी भी आपके मन में CTR से सम्बंधित कोई प्रश्न हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं हम जल्द ही आपके सवालों के जवाब देने की कोशिस करेंगें. लेख को अंत तक पढने हेतु धन्यवाद||

Hey Friends, I am Devendra Rawat. I am Blogger|| Hinditechdr.com Blog बनाने का मेरा यही मकसद है कि Hindi Readers को Blogging, SEO, Internet आदि की सटीक जानकारी हिंदी भाषा में प्रदान करा सकूँ. मेरे Blog पर आने के लिए धन्यवाद ||

2 thoughts on “CTR Kya Hai और CTR की गणना कैसे की जाती है?[CTR Full Form in Hindi]”

Leave a Comment